उत्तराखंड: दुल्हन के घर से 200 मीटर पहले खाई में गिरी बारातियों से भरी बस, 25 लोगो की मौत, राष्ट्रपति ने जताया दुःख

अमित शर्मा

उत्तराखंड: पौड़ी गढ़वाल जिले के बीरोंखाल इलाके में कोटद्वार मार्ग पर बरातियों से भरी एक बस मंगलवार देर शाम अनियंत्रित होकर घाटी में गिर गई जिसमे 25 लोगों की मौत हो गई है। जबकि पुलिस और SDRF की टीम ने पूरी रात रेस्क्यू कर 21 लोगों को बचाकर इलाज हेतु अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। बुधवार सुबह मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दुर्घटना स्थल पर पहुंचे हैं। बस में 45 से 50 लोग सवार बताए जा रहे हैं। 

जानकारी के अनुसार, हरिद्वार के लालधाम से संदीप पुत्र सुनंदराम की बारात पौड़ी गढ़वाल जिले के कांडा गांव जा रही थी। दुल्हन के घर से 200 मीटर पहले कोटद्वार-बीरोंखाल मार्ग पर लगभग 50 बरातियों से भरी बस पूर्वी नयार नदी की घाटी में जा गिरी। दुर्घटना में 25 लोगो की मौत हो गई। जबकि सूचना पर पहुंची पुलिस और SDRF की टीम ने रातभर बचाव अभियान चलाकर 21 लोगो को बचाया है। दुर्घटना की जानकारी मिलते ही सीएम पुष्कर सिंह धामी रात में ही राज्य सचिवालय स्थित राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र पहुंचे। उन्होंने वहां तैनात अधिकारियों से दुर्घटना के बारे में जानकारी ली।

घटना की जानकारी लेते सीएम पुष्कर धामी

बुधवार सुबह मुख्यमंत्री धामी घटनास्थल पहुंचे और स्थिति का जायजा लेते हुए लोगों से मुलाकात कर अधिकारियों से दुर्घटना के बारे में जानकारी ली। इस दौरान क्षेत्र के लोगो ने खराब सड़क और बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं पर नाराजगी जताते हुए सीएम धामी का विरोध भी किया। इसके बाद वे घायलों का हालचाल जानने कोटद्वार बेस अस्पताल पहुंचे। सीएम ने  आपदा में पुलिस की मदद करने वाले ग्रामीणों का आभार जताते हुए डीएम से उन लोगों की सूची उपलब्ध कराने को कहा हैं सभी को सरकार इनाम देगी। इस दौरान उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद डॉ. रामेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहे।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट किया है उन्होंने लिखा कि उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में बस के घाटी में गिरने पर कई लोगों के हताहत होने की दुर्घटना से दुखी हूं। इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी गहरी शोक-संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं।