मैनपुरी में जहरीली चाय ने ली चार जान, भाई दूज पर एक साथ चार मौतों से गांव में मचा कोहराम

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में बृहस्पतिवार सुबह दर्दनाक हादसा हुआ। यहां जहरीली चाय पीने से दो बच्चों सहित चार की मौत हो गई। भाई दूज वाले दिन गांव में एक साथ चार मौतों की खबर से चीत्कार मची हुई है। वहीं चाय पीने वाले पांचवे शख्स की हालत भी चिंताजनक बताई जा रही है। जिसका सैफई के अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

विलाप करते परिजन

मैनपुरी जिले के नगला कन्हई गांव के रहने वाले शिवनंदन के घर उसके ससुर रविंद्र सिंह हुए थे। शिवनंदन के पड़ोस में रहने वाले सोबरन सिंह भी वहां आ गए। सभी लोग चाय पीने लगे। चाय पीते पीते रविंद्र सिंह और सोबरन की अचानक तबीयत खराब हो गई। वह बेसुध होकर गिर पड़े। परिजन जब तक उन्हें संभालते, तब तक 35 वर्षीय शिवनंदन और छह वर्षीय पुत्र शिवांग और पांच वर्षीय दिव्यांश की हालत भी बिगड़ गई।

सभी के एक साथ बेहोश होने पर परिजन उनको तुरंत जिला अस्पताल पहुंचे। वहां चिकित्सकों ने रविंद्र सिंह, शिवांग और दिव्यांश को मृत घोषित कर दिया। सोबरन व शिवनंदन की हालत गंभीर थी, जिन्हें उपचार के लिए सैफई रेफर कर दिया गया था। सैफई में उपचार के दौरान सोबरन की भी मौत हो गई। जबकि रविंद्र की हालत गंभीर बताई जा रही है। भैय्यादूज के दिन एक साथ चार लोगो की मौत की खबर सुनते ही पूरे गांव में कोहराम मच गया। 

एसपी कमलेश दीक्षित ने बताया कि घर की  महिला ने चाय बनाते समय पत्ती के साथ ही भूलवश धान में डालने वाली कीटनाशक दवा डाल दी, जिससे चाय जहरीली हो गई। इस चाय को दो बच्चों सहित पांच लोगों ने पिया, जिससे चार की मौतें हो गई, वही एक की हालत गंभीर हैं। उसका सैफई में उपचार चल रहा है।