मेरठ: नाबालिग मजदूर की मशीन में फंसकर मौत, परिजनों एवं ग्रामीणों ने किया हंगामा

संवाददाता: प्रवीण सैनी

मेरठ: गुरुवार को इंचौली थाना क्षेत्र के मेरठ मवाना रोड स्थित एक प्लस्टिक रिसाईकिल फैक्ट्री में मजदूरी करने वाले नाबालिग मजदूर की मशीन में फंसकर दर्दनाक मौत हो गई। हादसा इतना खौफनाक था कि फैक्ट्री में मौजूद अन्य मजदूरों का दिल दहल गया।


जानकारी के अनुसार इंचौली थाना क्षेत्र के ग्राम महल निवासी 16 वर्षीय निखिल पुत्र अजय कुमार मसूरी गांव के समीप ईकोकेयर वेंचर प्राइवेट लिमिटेड फैक्ट्री मैं मजदूरी करता था। जहां इस फैक्ट्री में प्लास्टिक रीसाईकिल का कार्य किया जाता है। गुरुवार सुबह को निखिल रोज की तरह फैक्ट्री में ड्यूटी करने के लिए पहुंचा था। इस दौरान फैक्ट्री के सुपरवाइजर समर ने निखिल को रीसाईकिल मशीन की अंदर से साफ सफाई करने के लिए कहा। जिसके बाद निखिल मशीन के अंदर घुसकर टैंक साफ करने लगा इस दौरान बिजली गई हुई थी।

मिली जानकारी के अनुसार साफ सफाई के समय मशीन की पावर कट नहीं की गई थी। इसी दौरान जब निखिल मशीन में अंदर घुस कर साफ सफाई कर रहा था तभी अचानक बिजली आ गई जिस कारण मशीन चालू हो गई। तभी निखिल चीखने चिल्लाने लगा। चीखने चिल्लाने की आवाज सुनते ही फैक्ट्री में कार्य करने वाले अन्य मजदूर जब मशीन की तरफ दौड़े तो तब तक निखिल का शरीर अंदर ही क्षत-विक्षत हो गया। यह मंजर देख वहां के मजदूरों का दिल दहल गया वह आनन-फानन में फैक्ट्री में काम करने वाले अन्य मजदूर साथियों ने पूरे हादसे की जानकारी निखिल के परिजनों को दी तो परिवार में हड़कंप मच गया।

जानकारी पाकर निखिल के परिजन एंव सैंकड़ो की संख्या में ग्रामीण ने फैक्ट्री पर पहुंचकर हंगामा कर दिया। ओर फैक्ट्री के मालिक को मौके पर बुलाने वह 30 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग करने लगे। वहीं इस घटना की जानकारी मिलने पर इंचौली, गंगानगर, मवाना आदि थानों की फोर्स घटनास्थल पर पहुंची और घटना की जानकारी लेते हुए ग्रामीणों को शांत करने की कोशिश करने लगे। इसी दौरान हंगामा बढ़ते देख पीएसी के जवान भी पहुंच गए। बावजूद इसके करीब पांच घंटे तक हंगामा जारी रहा। किसी तरह पुलिस के आला अधिकारियों ने ग्रामीणों एवं परिजनों को समझाबुझाकर वापस भेजा।