मेरठ: लापता पति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए 8 साल से अधिकारियों के चक्कर काट रही महिला

संवाददाता: प्रवीण सैनी


मेरठ: अधिकारियों की उपेक्षा के चलते कस्बा फलावदा के वार्ड 12 मोहल्ला बिश्नोईयान दरबार निवासी महिला अपने लापता पति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए पिछले 8 वर्षों से लगातार अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काटते काटते परेशान हो गई है लेकिन आज तक किसी अधिकारी ने उसके पति का मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बनाया।

पीड़िता स्वेता देवी ने बताया कि उसका पति स्वर्गीय जितेंद्र बिश्नोई पिछले 8 वर्ष पूर्व कस्बे के ही उसके पति के तीन दोस्त घर से बुलाकर ले गए लेकिन कई दिन बीतने के बाद उसका पति वापस नहीं आया। उक्त घटना के संबंध में पीड़िता ने थाना फलावदा में तीनों लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन 8 साल बीतने के बाद भी आज तक पुलिस उसके पति को तलाश नहीं कर सकी। पुलिस ने उक्त मामले में कानूनी कार्रवाई बंद कर दी है।

अब पीड़िता अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कस्बे के चेयरमैन और नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी के अलावा तहसील दिवस और एसडीएम मवाना जिला अधिकारी मेरठ को 8 साल से लगातार सैकड़ों बार प्रार्थना पत्र देकर अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने की गुहार लगाई है लेकिन आज तक उसके पति का मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बन सका। जिस कारण पीड़ित महिला के चार छोटे-छोटे बच्चे हैं उनके पालन पोषण करने के लिए कोई रोजगार भी उपलब्ध नहीं है तथा अपने बच्चों को स्कूल में पढ़ा भी नहीं पा रही है। अब यह परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है।

इस संबंध में एसडीएम मवाना अखिलेश यादव का कहना है कि मामले की जांच करा कर पीड़िता के पति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने में सहयोग करेंगे।