सीएम योगी ने कोरथा गांव पहुंचकर पीड़ितों का बांटा दर्द, आज मिल सकता है घोषित मुआवजा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार दोपहर बाद कानपुर के कोरथा गांव पहुंचे और पीड़ित परिवारों का दुख दर्द बांटा। उन्होंने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया कि सरकार हर समय उनके साथ है। सीएम योगी ने पीड़ित 10 परिवारों के साथ लगभग 20 मिनट बात की और ढांढस बंधाते हुए अधिकारियों को उचित व्यवस्था बनाने के दिशा निर्देश दिए।   

दरअसल, कानपुर जिले के कोरथा गांव के लगभग 50 लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली से शनिवार को बच्चे का मुंडन कराने चंद्रिका देवी मंदिर गये थे। रात में लौटते वक्त हादसे में महिलाओ और बच्चो सहित 26 लोगों की मौत हो गई थी। घटना की जानकारी पर सीएम योगी ने तत्काल राहत कार्य की खुद मॉनिटरिंग करते हुए पल-पल की जानकारी ली। सीएम ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार की सहायता राशि देने का एलान किया था। 

जिसके बाद रविवार को सीएम योगी अपने सभी जरूरी कार्यक्रम को छोड़कर पहले कानपुर के हैलेट अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने घायलों का हालचाल जाना और उनके उचित उपचार के दिशा निर्देश दिए। जिसके पश्चात सीएम योगी कोरथा गांव पहुंचे और वहां का माहौल देखकर गमगीन हो गए। मुख्यमंत्री ने पीड़ितों को सांत्वना देते हुए कहा कि आपने जिन्हें खो दिया उन्हें वापस तो नहीं ला सकते हैं, लेकिन सरकार सदैव आपके साथ खड़ी है। सीएम   ने गांव में 10 पीड़ित परिवारों से खुद बात कर जानकारी ली।

मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर तय किया कि मृतक आश्रितों को जल्द से जल्द घोषित मुआवजा दिया जाए। डीएम विशाख जी ने बताया कि ग्राम समाज की भूमि का सर्वे कर आश्रितों को जमीन आवंटित की जाएगी। जिसके पास भूमि नहीं है, उसे कृषि भूमि और आवास दोनों दिए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि पीएम केयर फंड और मुख्यमंत्री राहत कोष से घोषित सहायता राशि सोमवार को पीड़ित परिवारों को दी जाएगी।