उदयपुर: एक ही परिवार के छह लोगों की मौत, 3 बच्चे फंदे पर तो माता-पिता और दुधमुहा बच्चा बेड पर मृत मिले 

संवाददाता: महिपाल सिंह

मृतकों का घर

राजस्थान: उदयपुर के गोगुंदा में सोमवार को एक ही परिवार के चार बच्चों सहित छह लोग मृत पाए गए हैं। चार में से तीन बच्चे फांसी के फंदे पर लटके मिले। वहीं एक चार महीने का मासूम मां की गोद में मृत मिला। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। पूरे परिवार के खात्मे से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस प्रथम दृष्टया आर्थिक तंगी के चलते सामूहिक आत्महत्या मानकर चल रही है। जांच के लिए मौके पर फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड को भी बुलाया गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। मौत के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है। 

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार गोगुंदा पुलिस ने बताया कि सोमवार सवेरे सूचना मिलने पर क्षेत्र के झाड़ोली के गोल नेड़ी गांव पहुंची। घर का दरवाजा खोलकर देखा तो  कमरे के अंदर चारों तरफ लाशें थीं। मृतकों की पहचान प्रकाश (40) उसकी पत्नी दुर्गा (35) चार बच्चे गणेश (5 साल), पुष्कर (4 साल), रोशन (2 साल) और एक  चार महीने का दुधमुहा बच्चा है। इनमे से गणेश पुष्कर और रोशन कमरे में फांसी के फंदे में लटके मिले। वही महिला दुर्गा चार माह के बच्चे के साथ बिस्तर पर मृत मिली है।

दरअसल प्रकाश के घर के सामने उसके छोटे भाई दुर्गाराम का घर है। सुबह करीब 8:30 बजे तक भी घर का दरवाजा नहीं खुला तो भाई ने दरवाजे को खोलकर देखा तो अंदर शव पड़े मिले। एक साथ परिवार के छह सदस्यों की लाशें देखकर हड़कंप मच गया। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई, जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। जांच के लिए मौके पर फॉरेसिंक की टीमें और डॉग स्कवायड की टीम भी पहुंची। डॉग भी करीब 10 फीट के उसी दायरे में घूमता रहा। पुलिस ने घर की तलाशी ली।


बताया गया की घर का मुखिया प्रकाश तीन महीने पहले ही गुजरात के सूरत से लौटा था। प्रकाश काफी समय से बीमार चल रहा था। इस वजह से वह काम पर वापस लौटा नहीं था। पुलिस को शक है कि आर्थिक तंगी के कारण प्रकाश ने बच्चों को फंदे से लटकाने के बाद खुद पत्नी के साथ आत्महत्या कर ली।हालांकि पुलिस आत्महत्या और हत्या दोनों एंगल से जांच में जुट गई है। पुलिस ने सभी शवों को राजकीय अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया है। घर को सील कर दिया गया है। एक साथ छह लोगों के मरने से क्षेत्र में शोक की लहर है।