बिहार: पिछले 22 वर्षों से नही नहाया यह शख्स, प्रतिज्ञा के चलते पत्नी और बेटों की मौत पर भी नही डाला शरीर पर पानी

मनोज कुमार

गोपालगंज: हाल ही में दुनिया के सबसे गंदे आदमी  ईरान के अमौ हाजी की 94 साल की उम्र में  मौत हो गई है। मीडिया के अनुसार यह शख्स पिछले लगभग 62 साल से नहीं नहाया था। क्या आपको पता है कि हमारे देश में एक ऐसा इंसान है जो पिछले 22 वर्षों से नही नहाया है। इतना ही नहीं उसने ताउम्र ना नहाने की भीष्म प्रतिज्ञा ली हुई है। इस शख्स के शरीर से बदबू तो खूब आती है लेकिन वह आज तक बीमार नहीं पड़ा। ना नहाने वाली प्रतिज्ञा के चलते उसे अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा।

दरअसल, बिहार के गोपालगंज निवासी 62 वर्षीय धर्मदेव राम नाम का व्यक्ति पिछले 22 साल से नहाया नहीं है और अभी भी ना नहाने की जिद्द पर अड़ा हैं। उसकी इस  अजीबो-गरीब हरकत से हर कोई हैरान हैं। इससे भी ज्यादा हैरान कर देने वाली बात यह रही है कि शख्स के बदन से खूब बदबू आती है पर वो अब तक बीमार नहीं पड़ा है। धर्मदेव पिछले 22 वर्षो से गांव के ब्रह्मस्थान के पास रह रहे हैं।

बताया गया कि उनकी पत्नी माया देवी का 2003 में देहांत हो गया तब भी वह नहीं नहाया। उसके बाद उसके दो-दो बेटों की मौत भी हो गई, फिर भी शरीर पर एक बूंद पानी नहीं डाला। कुछ लोग कहते हैं कि धर्मदेव तंत्र-मंत्र करते हैं, उसी की वजह से उन्हें कोई मानसिक बीमारी हुई है। जिसकी वजह से वो ना नहाने की जिद पाल बैठे हैं। धर्मदेव के ना नहाने की वजह से उनकी नौकरी चली गई। वो कोलकाता में एक जूट फैक्ट्री में काम करते थे।

ग्रामीणों का कहना है कि धर्मदेव राम ने ना नहाने के पीछे एक अनूठी प्रतिज्ञा ली थी  उनका कहना है कि “जब तक महिलाओं के साथ अत्याचार, जमीन विवाद और जीव हत्या खत्म नहीं होगी वो नहीं नहाएंगे” जब तक ये तीनों चीजे पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाती तब तक वे अपने शरीर पर पानी डालेंगे। उनकी प्रतिज्ञा को देखकर लगता है की शायद ही कभी पूरी हो।

धर्मदेव का कहना है कि साल 1987 में अचानक उन्हें ऐसा लगा कि जमीन विवाद, जीव हत्या और महिलाओं के साथ अत्याचार बढ़ने लगा है। तभी से उन्होंने फैसला किया कि अत्याचरा बंद नहीं होगा वो नहीं नहाएंगे। इस दौरान उनको एक गुरु के साथ 6 महीने बिताएं और गुरुदक्षिणा ली। धर्मदेव भगवान राम को अपना आदर्श मानते हैं और उन्हीं की बातों को अपने जीवन में उतारते हैं।