झटकाǃ आर्थिक तंगी के चलते Philips ने किया नौकरियों में कटौती का ऐलान

Philips Job Cut: आर्थिक संकट से जूझ रही नीदरलैंड की प्रमुख कंपनी फिलिप्स (Philips) ने नौकरियों में कटौती की घोषणा की है। कंपनी ने बयान जारी कर कहा है कि उत्पादकता में सुधार और लिक्विडिटी को बढ़ाने के लिए वह 4,000 नौकरियों में कटौती करेगी। कंपनी के इस फैसले से नौकरी आस लगाए बैठे हजारों युवाओं को झटका लगेगा।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक फिलिप्स ने एक बयान में है कहा कि तीसरी तिमाही की बिक्री परिचालन और आपूर्ति चुनौतियों से प्रभावित हुई है। कंपनी ने कहा कि समूह की बिक्री 4.3 अरब यूरो रही, जिसमें बिक्री में 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। यह आंकड़ा 12 अक्टूबर तक मिले अपडेट पर आधारित है।

सीईओ रॉय जैकब्स का एलान

फिलिप्स के सीईओ रॉय जैकब्स ने बयान में कहा कि उत्पादकता और काम करने के तौर-तरीकों में सुधार की प्रक्रिया के तहत हम विश्व स्तर पर कर्मचारियों की संख्या में लगभग 4,000 तक कटौती करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि यह एक कठिन, लेकिन आवश्यक निर्णय है। उन्होंने कहा कि कंपनी के पास अधिक विकल्प नहीं बचे हैं।

फिलिप्स के सामने क्या है संकट

जैकब्स ने कहा कि फिलिप्स को एक मुनाफा देने वाले इकाई में तब्दील करने और हमारे सभी हितधारकों के लिए इसे मूल्यवान कंपनी बनाने के लिए इस तरह की शुरुआती कार्रवाइयों की आवश्यकता है। आपको बता दें कि बीते तिमाही में फिलिप्स का प्रदर्शन, परिचालन और आपूर्ति चुनौतियों से बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

मुद्रास्फीति के दबाव, चीन में COVID और रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते कई देशों के व्यापार से कंपनी को खासा नुकसान हुआ है। कंपनी इन दिनों कम नकदी, बढे़ हुए खर्च और कच्चे माल की अधिक खपत के कारण घाटे में चल रही है।