रवीश कुमार ने भी दिया NDTV से इस्तीफा, अब देखने को नही मिलेगा Prime Time

रवीश कुमार

Ravish Kumar Resigns from NDTV: NDTV से वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने बुधवार को इस्तीफा दे दिया है। इससे एक दिन पहले प्रणय रॉय (Prannoy Roy) और उनकी पत्नी राधिका रॉय (Radhika Roy) ने एनडीटीवी बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था। कुमार चैनल के प्रमुख शो हम लोग, रवीश की रिपोर्ट, देश की बात और प्राइम टाइम सहित कई कार्यक्रमों को होस्ट करते थे।

एनडीटीवी ग्रुप (NDTV Group) की प्रेसिडेंट सुपर्णा सिंह (President Suparna Singh) ने कहा, “कुछ ही पत्रकार ऐसे हैं, जिन्होंने रविश जितना प्रभाव लोगों पर छोड़ा। उनके बारे में लोगों की प्रतिक्रियाओं की ढेर में; भीड़ में उनके लिए जुटने वाले लोगों, भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्हें मिले प्रतिष्ठित पुरस्कारों और पहचान; और अपनी दैनिक रिपोर्ट में, जो उन लोगों के अधिकारों और जरूरतों को पूरा करता है जो सेवा से वंचित हैं, में यह साफ झलकता है।”

रवीश कुमार को दो बार गोयनका और एक बार रेमन मैग्सेसे अवॉर्ड मिल चुका है

रवीश कुमार (Ravish kumar) के जाने की घोषणा करते हुए, चैनल ने एक आंतरिक मेल में कहा कि उनका इस्तीफा तत्काल रूप से प्रभावी है। यानी अब रवीश कुमार एनडीटीवी के लिए शो Prime Time करते हुए नजर नहीं आएंगे। रवीश कुमार को उनकी पत्रकारिता के लिए दो बार रामनाथ गोयनका एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म अवार्ड और 2019 में रेमन मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

बिहार के छोटे से गांव से निकलकर दिल्ली आए थे रवीश

पत्रकार रवीश कुमार का जन्म 5 दिसम्बर 1974 को बिहार के पूर्व चंपारन जिले के मोतिहारी के एक छोटे से गांव जितवारपुर में हुआ था। इनकी शुरुआती पढ़ाई लोयोला हाई स्कूल, पटना से हुई। इसके बाद उच्च शिक्षा को प्राप्त करने के लिए वे दिल्ली आए। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक और इसके बाद भारतीय जन संचार संस्थान से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर का डिप्लोमा प्राप्त किया।

बता दें कि NDTV के मालिक और संस्थापक प्रणय और उनकी पत्नी राधिका रॉय ने भी मंगलवार (29 नवंबर 2022) को एनडीटीवी के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था।

बीएसई (BSE) के साथ किए गए एक नियामक फाइलिंग में इसकी जानकारी दी गई। प्रणय रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफा देने के तुरंत बाद कंपनी के बोर्ड में तीन नए निदेशक नियुक्त किए गए। इनमें अडानी समूह के सीईओ सुदीप्त भट्टाचार्य, संजय पुगलिया और सेंथिल सिन्नैया चेंगलवारायण शामिल हैं।

साल 1988 में डाली थी NDTV की नींव

1988 में प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने एनडीटीवी की नींव रखी थी। शुरुआत में प्रणव रॉय दूरदर्शन पर ‘द वर्ल्ड दिस वीक’ (The World This Week) नाम का कार्यक्रम लेकर आते थे, जिसने उन दिनों काफी लोकप्रियता हासिल की थी।

करीब 11 साल बाद 1998 में उन्होंने स्टार न्यूज के साथ मिलकर देश के पहले 24 घंटे के न्यूज चैनल की शुरुआत की। उन दिनों NDTV, स्टार न्यूज के लिए प्रोडक्शन का काम करता था। तब बीबीसी का 80 प्रतिशत कंटेंट भी NDTV ही तैयार करता था। बाद में दोनों मीडिया हाउस अलग हो गए।