वाराणसी: दरोगा को गोली मारकर पिस्टल लूटने वाले दो सगे भाई बदमाश पुलिस मुठभेड़ में ढेर, एक सिपाही घायल

उत्तर प्रदेश: वाराणसी में सोमवार अलसुबह पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ दो बदमाश मारे गए। जबकि उनका तीसरा साथी फरार हो गया। मारे गए दोनो बदमाश सगे भाई है। पुलिस ने बदमाशों के पास से एक 9 एमएम पिस्टल और एक 32 बोर का पिस्टल, बाइक, मोबाइल फोन और जरूरी कागजात बरामद किए हैं। बदमाशों ने कुछ दिन पहले ही लक्सा थाने में तैनात दरोगा अजय कुमार पर  जानलेवा हमला कर उनकी पिस्टल लूट ली थी। इसके बाद से ही पुलिस को बदमाशों की तलाश थी। 

जानकारी के अनुसार,सोमवार सुबह क्राइम ब्रांच और बड़ागांव पुलिस को सूचना मिली कि दरोगा की पिस्टल लूट में शामिल बदमाश रिंग रोड के पास हैं। जिसके पश्चात पुलिस और बदमाशो के बीच बड़ागांव इलाके में रिंग रोड किनारे भलेखा गांव के पास घेराबंदी में बदमाशों ने पुलिस टीम पर कई राउंड फायरिंग की। जिसमें क्राइम ब्रांच के आरक्षी शिव बाबू घायल हो गए। जवाबी कार्रवाई में दो बदमाश भी गोली लगने से घायल हो गए।

बदमाशों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। यहां दोनों को मृत घोषित कर दिया गया। बदमाशों की शिनाख्त बिहार के समस्तीपुर जिले के मोहद्दीनगर थाना के गोलवा निवासी रजनीश सिंह और मनीष सिंह के रूप में हुई। जबकि इनका तीसरा भाई लल्लन पुलिस को चकमा देकर भाग गया। तीनों हत्या और लूट की घटनाओं को अंजाम देने में माहिर हैं।

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि मौके पर अन्य अधिकारियों को रवाना किया गया है। बदमाशो के कब्जे से देरोगा से लूटी हुई 9 एमएम की पिस्टल बरामद हुई है। नौ नवंबर को तीन बदमाशों ने लक्सा थाने में तैनात दरोगा को गोली मारी थी और पिस्टल लूट कर भाग गए थे। जो बदमाश पुलिस को चकमा देकर भागा, वह उनका तीसरा भाई है।