UP: प्रेमिका ने शादी के लिए जिद की तो प्रेमी ने हत्याकर शव घर में दबाया, दो साल बाद मिला कंकाल

उत्तर प्रदेश: फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज थाना क्षेत्र के गांव कीठौत में एक प्रेमिका की उसके प्रेमी ने हत्या कर शव को अपने ही घर में दबा दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद प्रेमी अपने मां-बाप और दो भाईयों के साथ फरार हो गया। जिसको मुखबिर की सूचना पर गुरुग्राम से हिरासत में लिया गया। प्रेमी की निशानदेही पर घर की खुदाई कर अस्थियां निकलना शुरू हो गयी थी जिन्हे पुलिस और प्रशासन की निगरानी में जब्त कर जांच के लिए भेजकर मकान को सील कर दिया गया।

ग्रामीणों से पूछताछ करती पुलिस

जानकारी के अनुसार, प्रेमी गौरव और प्रेमिका खुशबू के घरों के बीच मात्र चार घरों का फासला है। एक ही जाति के होने के कारण दोनों का एक दूसरे के यहां आनाजाना था। खुशबू के परिजनो के कहने पर गौरव उसको बाइक चलाना सिखाने लगा। इस दौरान दोनों की बीच दोस्ती हो गई और दोनों का मिलना जुलना भी शुरू हो गया। लेकिन युवती के परिजन को दोनों के बीच चल रहे प्रेम प्रसंग की जानकारी नहीं थी। दो साल चले प्रेम प्रसंग के बीच खुशबू ने गौरव पर शादी का दबाव बनाने लगी। लेकिन गौरव उससे पीछा छुड़ाना चाहता था ज्यादा दबाव बनाये जाने पर गौरव ने उसकी हत्या की योजना बनाई। 

घर में खुदाई करती पुलिस

20 नवंबर 2020 को खुशबू अपने घर से भाग कर गौरव के घर पहुंची और गौरव पर साथ ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी तो गौरव ने उसकी हत्या कर शव को घर के अंदर ही दफना दिया। इसके बाद गौरव अपनी माता पिता और दो भाईयों के साथ फरार हो गया। पिछले दो सालों से गौरव के पिता और उसके भाई छिपते घूम रहे थे। कई बार पुलिस को दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में इसकी लोकेशन मिली लेकिन जब भी पुलिस उसे पकड़ने जाती तो ये फरार हो जाते थे। 

पिछले दो साल से आरोपी के घर ताला पड़ा था। लेकिन मुखबिर की सूचना पर उनको हिरासत में लिया गया। गौरव की निशानदेही पर शव का पता चल गया तो सीओ सिरसागंज अनिवेश सिंह, थाना प्रभारी उदयवीर मलिक, तहसीलदार लालता प्रसाद, ने गौरव के कमरे की खुदाई कर खुशबू की अस्थियां निकाली गई। जिन्हे पुलिस और प्रशासन की निगरानी में जब्त कर जांच के लिए भेजकर गौरव के मकान को सील कर दिया गया।

एसपी देहात कुमार रणविजय सिंह का कहना है कि खुशबू कक्षा आठ तक पढ़ी थी। वहीं गौरव इंटर कर चुका है। आरोपी के साथ ही उसके परिजन के खिलाफ भी कार्रवाई कर जेल भेजा जाएगा।