UP: चंदौली में पिता ने बीमार बेटी की भागदौड़ से परेशान होकर गला घोंटकर मार डाला

उत्तर प्रदेश: चंदौसी जिले के हुदहुदीपुर गांव में एक निष्ठुर पिता ने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम देते हुए अपनी बेटी का गला घोंटकर हत्या कर दी। मानसिक रूप से बीमार बेटी को मौत के घाट उतारकर पिता ने उसके आत्महत्या करने की कहानी गढ़ी। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोटकर हत्या करने की बात सामने आने पर पिता को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसकी 16 वर्षीय बेटी मानसिक रूप से बीमार थी। वह उसके इलाज को लेकर भागदौड़ से परेशान था इसलिए गला दबाकर हत्या कर दी।

जिले के बलुआ थाना इंस्पेक्टर राजीव सिंह ने बताया कि 14 सितंबर को एसपी अंकुर अग्रवाल को फोन कर हुदहुदीपुर गांव की किसी किशोरी की मौत की सूचना दी थी। जिसके बाद थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो उस समय मोनी सिंह (16) पुत्री मनोज कुमार सिंह का शव पड़ा हुआ था। पुलिस के पूछने पर पिता मनोज कुमार सिंह ने बताया कि उनकी मानसिक रूप से बीमार बेटी ने बाथरूम में आत्महत्या कर ली। उस वक्त पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टरों ने बताया कि किशोरी की मौत आत्महत्या से नहीं बल्कि गला दबाने से हुई है। पुलिस का शक गहराया तो इंस्पेक्टर राजीव सिंह ने विवेचना करते हुए पुलिस ने पिता मनोज को शुक्रवार को मोहर गंज इलाके से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने पुलिस के सामने उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

पिता मनोज ने बताया कि उसकी पुत्री मोनी की मानसिक मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। वह इधर-उधर भागती रहती थी, जिस कारण वह हमेशा परेशान रहता थे। उसका इलाज कराते कराते परेशान हो गए थे। इस कारण 14 सितंबर को उसकी हत्या कर दी थी और घटना को छुपाने के लिए खुद पुलिस को आत्महत्या की गलत सूचना दी। पिता को गिरफ्तार कर लिया है।