दर्दनाकǃ पिता से बदला लेने के लिए कर डाली चार साल के मासूम की हत्या

दीपावली से पहले घर में पसरा मातम

Agra Crime: कहावत है कि इस धरती पर इंसान से बड़ा हैवान कोई दूसरा नहीं है। इसका ताजा उदाहरण उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद में देखने को मिला। यहां एत्माद्दौला थाना क्षेत्र के शंभू नगर में एक हैवान युवक ने अपने ही दोस्त के 4 साल के मासूम बच्चे की गोली मारकर हत्या कर दी। मासूम का कसूर सिर्फ इतना था कि उसके पिता का आरोपी से मामूली विवाद हो गया था। पिता से बदला लेने के लिए हैवान ने 4 साल के मासूम बच्चे को मौत के घाट उतार दिया। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए बच्चे का शव भी बरामद कर लिया है।

इकलौता बेटा था गोल्डी 

जानकारी के अनुसार शंभू नगर निवासी बबलू दक्ष हलवाई का काम करता है। उसके परिवार में एक बेटी और इकलौता बेटा गोल्डी था। शनिवार को करीब छह बजे गोल्डी घर के बाहर खेल रहा था। यहीं से वह अचानक गायब हो गया था। काफी खोजबीन करने के बाद जब गोल्डी नही मिला तो बबलू ने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी थी। पुलिस भी बच्चे की तलाश में जुटी थी। तलाश के दौरान ही बच्चे का गोली लगा हुआ शव पानी की हौद में पड़ा मिला।

बबलू का दोस्त निकला बेटे का हत्यारा

हत्यारोपी‚ बंटी

जांच के दौरान पुलिस ने न्यू कृष्णा नगर निवासी बबलू के दोस्त बंटी को गिरफ्तार किया है। बंटी भी बबलू के साथ हलवाई का काम करता है। पुलिस ने बताया कि सवा महीने पहले उन्हें भंडारे का प्रसाद बनाने के लिए काम मिला था। बबलू ने बंटी से भी प्रसाद बनाने के लिए रकम देने के लिए कहा था, लेकिन उसने मना कर दिया। इस पर दोनों में विवाद हो गया। बबलू और बंटी में बातचीत बंद हो गई थी। इसी विवाद में बंटी ने बबलू से बदला लेने का प्लान बनाया। इसमें अपने साथी टिंका को शामिल कर लिया। 

पूछताछ में पता चला कि बंटी रोजाना बबलू की गली में आता था और चक्कर काटकर चला जाता था। वह शनिवार शाम को अपने साथी मैनपुरी निवासी टिंका के साथ आया था। बंटी जब आया तो बबलू घर में नहीं था। उसका बेटा घर के बाहर खेल रहा था। बंटी ने पहले उसे चॉकलेट दिलाई। उसे बाइक पर बैठाकर ले गया। उसके सीने में गोली मारकर हत्या कर शव हौद में फेंक दिया। 

बच्चे को तलाशने का नाटक करता रहा आरोपी

हैरानी की बात यह है मासूम की हत्या करने वाला बंटी दोस्त बबलू के साथ गोल्डी को तलाशने का नाटक करता रहा। बबलू ने पुलिस को बताया कि बंटी ने ही उसे बताया कि एक भगत से पता चला है कि गोल्डी कालिंदी विहार में है। रात तकरीबन 12:30 बजे वह उन्हें उसी स्थान पर ले गया, जहां बेटे का शव पड़ा था। शव हौद में पड़ा मिला। उसके पास ही तमंचा भी था। जानकारी पर पहुंची पुलिस ने तमंचा कब्जे में ले लिया। यहीं से पुलिस को बंटी पर शक हुआ।

दिवाली पर बुझा दिया घर का चिराग

पिता से विवाद में बेटे को मार दिया गया। दिवाली पर परिवार में मातम छा गया। हर कोई एक ही बात कह रहा था कि आरोपियों ने घर का चिराग बुझा दिया। बबलू का बिट्टू इकलौता बेटा था। उनकी एक बेटी और है। बेटे की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ। मां और पिता सदमे में हैं।