शिक्षिका ने नकल के शक में छात्रा के उतरवाए कपड़े, आहत छात्रा ने खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

झारखंड: जमशेदपुर के एक गर्ल्स स्कूल की नौवीं कक्षा की छात्रा को शिक्षिका ने कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया तो लड़की ने खुद को आग लगा ली। गंभीर रूप से झुलसी छात्रा को उसके परिजन अस्पताल ले गए जहां वह 95% जलने के कारण जिंदगी की जंग लड़ रही है। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि शिक्षिका के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली गई है और मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, शारदामणि गर्ल्स हाईस्कूल की एक टीचर चंद्रादास ने शुक्रवार को नकल के शक में एक 15 वर्षीय छात्रा के कपड़े उतरवाकर जांच की। शिक्षिका को उसके उपर संदेह था की वह अपने कपड़ों में नक़ल सामग्री छिपा कर लाई है। शिक्षिका ने छात्रा को अपमानित करते हुए कक्षा से सटे एक कमरे में कपड़े उतारकर तलाशी ली। नौवीं की छात्रा इससे इतनी आहत हुई कि घर आते ही स्कूल ड्रेस में ही कैरोसिन छिड़ककर खुद को आग लगा ली।

आग की लपटों में घिरी छात्रा घर से निकलकर सड़क पर बेहोश होकर गिर गई। लोगों ने पानी डालकर आग बुझाकर उसे एमजीएम अस्पताल ले गए। करीब 95 प्रतिशत जली होने के कारण उसे टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) रेफर कर दिया गया। छात्रा की मां ने कहा कि उनकी बेटी इस अपमान को सहन नहीं कर सकी और उसने स्कूल से लौटने के तुरंत बाद खुद को आग लगा ली।

घटना से आक्रोशित स्थानीय लोग घटना के विरोध में सड़कों पर उतर आए। पुलिस ने शिक्षिका चंद्रा दास के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है लेकिन अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई हैl स्कूल प्रबंधन ने भी मामले की जांच की बात कहते हुए परीक्षा स्थगित करते हुए स्कूल को दो दिनों के लिए बंद कर दिया है।