बीहड़ में सवा लाख के इनामी कुख्यात डकैत केशव गुज्जर और पुलिस के बीच मुठभेड़, चली 200 राउंड गोलियां

कुख्यात केशव गुज्जर

उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्यप्रदेश से वांछित कुख्यात करीब सवा लाख रूपये (1.15 लाख) के इनामी डकैत केशव गुर्जर से धौलपुर पुलिस की चंबल के बीहड़ में शुक्रवार रात को मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में दस्यु गिरोह और पुलिस के बीच करीब 200 राउंड फायर हुए। हालांकि मुठभेड़ के दौरान केशव गुर्जर और उसके साथी बचकर भाग निकले। अब पुलिस की टीमें बीहड़ में केशव गुर्जर और उसके गिरोह की तलाश में जुटी है। 

बीहड़ का जंगल

मुठभेड़ के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि डकैत केशव गुर्जर और उसकी गैंग के धौलपुर जिले के बाड़ी उपखंड क्षेत्र के सोने का गुर्जा इलाके में गांव चन्द्रपुरा के बीहड़ में छिपे होने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह की अगुवाई में इलाके की घेराबंदी कर डकैत को सरेंडर करने की चेतावनी दी, लेकिन डकैत केशव और उसकी गैंग ने पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। 

करीब एक घंटे तक चली मुठभेड़ में डकैत केशव गुर्जर गैंग और पुलिस की ओर से करीब 200 राउंड फायर हुए। जवाबी फायरिंग से घबराकर डकैत केशव गुर्जर और उसके गिरोह के अन्य सदस्य गांव चन्द्रपुरा के आसपास चंबल नदी के घने जंगल और बीहड़ का फायदा उठाकर भाग गए। ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में दहशत फैल गई। उसकी तलाश में दिन भर जंगलों में कांबिंग चल रही है।

धौलपुर के पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि डकैत केशव गुर्जर और उसकी गैंग में उसका भाई शीशराम गुर्जर व अन्य साथी बंटी पंडित और रामबृज खोटाबाई भी शामिल थे। केशव गुर्जर और उसके गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में लगातार सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। इस कार्य में ड्रोन की भी मदद ली जा रही है। मुठभेड़ के संबंध में धौलपुर पुलिस ने थाना सोने का गुर्जा में आईपीसी की धारा 353 एवं 307,आर्म्स एक्ट की धारा 3/25, 5/25 एवं 11 आरडीएए एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।