Connect with us

Hi, what are you looking for?

दुनिया

दो बच्चों के साथ बीच समुद्र में 4 दिनों तक फंसी रही मां, खुद पिया पेशाब‚ बच्चों को कराती रही स्तनपान

समुद्र में 2 बच्चों के साथ 4 दिनों तक फंसी महिला (Woman stuck in sea with children) ने अपनी ही पेशाब पीकर (Drank own urine) अपने बच्चों को स्तनपान (Breastfeed) कराया और उनकी जान बचाई मगर महिला खुद निर्जलीकरण (Dehydration) के कारण मर गई. जब से ये मामला सामने आया है तब से ही लोग उस मां की खूब तारीफ कर रहे हैं. जानिए क्या है ये पूरा मामला.

खबर शेयर करें

फेमस साउथ इंडियन फिल्म ‘केजीएफ’ (KGF) का एक डायलॉग है. इस दुनिया में सबसे बड़ा योद्धा मां होती है! ये महज एक डायलॉग नहीं है, सच्चाई है. एक मां अपने बच्चों (Mother gives life for kids) के लिए कुछ भी कर सकती है, किसी भी हद तक जा सकती है और अपनी जिंदगी त्याग कर अपने बच्चों को जीवन दे सकती है. ऐसा ही कुछ हालही में दक्षिण अमेरिका (South America) में हुआ जिसने सभी को चौंका दिया मगर सोशल मीडिया पर हर कोई उस मां की तारीफ कर रहा है जिसने बेहद मुश्किल परिस्थिति में भी अपनी जान देकर अपने बच्चों की जान बचा ली.

रेस्क्यू टीम को इस हालत में मिली महिला और उसके बच्चे. (फोटो: Twitter/@SbastienMlires1)

3 सितंबर को वेनुजुएला (Venezuela) से ला टॉर्टुगा (La Tortuga) जाने के लिए एक शिप निकली जिस पर 9 लोग सवार थे. इन 9 लोगों में मैरिली चाकोन (Mariely Chacon) नाम की एक 40 साल की महिला, उसका पति और दो बच्चे थे, 6 साल का बेटा और दो साल की बेटी. इनके अलावा 25 साल की बच्चों की दाई वेरोनिका (Veronica Martinez) भी शिप पर मौजूद थी. कैरिबियाई (Caribbean) क्षेत्र में उनके साथ एक भयानक हादसा हुआ और उनकी शिप टूट गई (Shipwrecked) और डूबने लगी. शिप का कुछ हिस्सा और एक फ्रिज समुद्र में तैरता रह गया.

इस हादसे में मैरिली और उसके दो बच्चे और बच्चों की नैनी (Nanny) बच गए जो 4 दिनों तक शिप के बचाए हुए सामान के सहारे तैरते रहे. मां अपने बच्चों को खोना नहीं चाहती थी इसलिए उसका जिंदा रहना जरूरी था. जिंदा रहने के लिए मां अपनी ही पेशाब पीती (Woman drank her own urine) रही जिससे उसके अंदर पानी की कमी ना हो और अपने बच्चों को स्तनपान (Breastfeeding) कराती रही. मगर 4 दिन बाद जब रेस्क्यू टीम पहुंची तब तक मां की जान जा चुकी थी पर बच्चे और उनकी दाई जिंदा रह गए थे जिनकी हालत बेहद खराब थी.

हादसे में जिंदा बची बच्चों की दाई (फोटो: Twitter/@IsFreyax)

रेस्क्यू टीम ने बताया कि उनके पहुंचने के कुछ घंटे पहले ही मां की जान निर्जलीकरण (Dehydration) से चली गई थी. जबकी भीषण गर्मी में बच्चों और दाई को भी डिहाईड्रेशन हो गया था और उनका शरीर भी धूप के कारण जल चुका था. 25 साल की वैरोनिका खुद को बचाने के लिए फ्रिज के अंदर चली गई थी जिससे उसकी जान बच सकी जबकि दोनों बच्चे अपनी मरी हुई मां से ही लिपटे हुए थे जब रेस्क्यू टीम ने उन्हें खोज निकाला. रेस्क्यू टीम ने बताया कि 5 लोग अभी भी लापता हैं. उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. इनमें एक शख्स मैरिली का पति और उन बच्चों का पिता भी है. वेनुजुएला नेशनल मरीटाइम अथॉरिटी ने जानकारी दी कि 7 सितंबर को 4 लोगों को रेस्क्यू किया गया मगर उनमें से एक महिला की मौत हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें- कार में न्यूड होकर ड्राइविंग रही थी महिला, पुलिस को मारी टक्कर‚ और फिर…

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: