Connect with us

Hi, what are you looking for?

Web series/Movies

Web series में जबरदस्त हिट होने वाला है ये फॉर्मूला ! क्या तुमने ध्यान दिया

सीरीज की कहानी को तीन या इससे ज्यादा किरदारों को मुख्य भूमिका में दिखाकर दिलचस्प मोड़ दिया गया है। पिछली कुछ सीरीज का अध्ययन करें तो यह फॉर्मूला हिट होता नजर आ रहा है। इस का

खबर शेयर करें

एक नायक और एक नायिका … अन्य सभी सहायक पात्र और कहानी एक दिलचस्प मोड़ लेती है। लेकिन इसे भेदने वाला माध्यम ओटीटी (ओवर द टॉप) है। सीरीज में हीरो-हीरोइन या सामान्य लव ट्राएंगल और उसमें विलेन की एंट्री देखने को नहीं मिलती है। साथ ही इस माध्यम में रिश्ते में शामिल होने की जगह अलग-अलग किरदारों के सफर को दिखाया जाता है। पिछले कुछ महीनों में पर्दे पर दिखाई गई सीरीज पर नजर डालें तो तीन या इससे ज्यादा किरदारों को मुख्य भूमिका में दिखाया जाता है।

यह सीरीज ‘चुटजपा’, ‘कैंडी’, ‘कार्टेल’, ‘कोटा फैक्ट्री 2’, ‘रिवॉल्यूशन इन पीस’, ‘हिंग बुक स्वॉर्ड’ और ‘पेरिस’ सीरीज के तीन से ज्यादा मुख्य किरदारों के इर्द-गिर्द घूमती है। एक श्रृंखला या एक फिल्म जैसे रिश्ते में शामिल होने के बजाय प्रत्येक चरित्र की यात्रा दिखाने पर जोर दिया जाता है। ऐसी सीरीज दर्शकों के करीब महसूस करती है। साथ ही, कहानी अलग-अलग व्यक्तित्वों को दिखाकर वजन बढ़ाती है। दर्शक उन किरदारों से जुड़ने की कोशिश करते हैं। कुछ सीरीज में हर एपिसोड के लिए नए किरदार बनाए जाते हैं, जो दर्शकों को खूब पसंद भी आते हैं। फिलहाल सीरीज में तीन या इससे ज्यादा किरदार मुख्य भूमिकाओं में दिखाई दे रहे हैं। इसलिए, यह कहना सुरक्षित है कि वेब ब्रह्मांड का नया सूत्र सफल होता दिख रहा है।

दिलचस्प है रिश्तों में ट्विस्ट
रिश्तों को प्रेमी-प्रेमिका, पति-पत्नी, माता-पिता या अन्य रिश्तों को दिखाने से अलग तरीके से दिखाया जाता है। हालांकि श्रृंखला के मुख्य पात्र एक प्रेम त्रिकोण दिखाते हैं, लेकिन उनके बीच के समीकरण या रसायन को अलग तरह से प्रस्तुत किया जाता है। दोस्तों के एक समूह या एक समूह को दिखाता है जो एक सामान्य उद्देश्य के लिए एक साथ आए हैं। यह कई ट्विस्ट देकर दर्शकों को बांधे रखने की कोशिश करती है। इस तरह की सीरीज को दर्शकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिलता है।

अगले सीजन की तैयारी
श्रृंखला में तीन या चार पात्रों को मुख्य भूमिका में दिखाने के पीछे एक उद्देश्य अगले सीज़न की तैयारी करना है। अगले सीज़न की कहानी पिछले सीज़न में दिखाए गए तीन या चार पात्रों में से एक के इर्द-गिर्द घूमती है। ऐसे में पहला सीजन अगले सीजन के लिए तैयार किया जाता है। इस तरह की कहानी को अगले कई सीजन बनाने के नजरिए से देखा जाता है।

सहायक पात्रों का भी महत्व
श्रृंखला में तीन या अधिक मुख्य पात्र होने पर भी अन्य सहायक पात्रों को भी महत्व दिया जाता है। यानी दूसरे पैनल में मुख्य पात्रों को वजन देने वाले पात्रों को प्रकाश में लाया जाता है। क्योंकि उस किरदार से कहानी को दिलचस्प मोड़ देना संभव है या फिर उन किरदारों को मुख्य किरदारों से जोड़कर कहानी को और दिलचस्प बना दिया जाता है. इसलिए, श्रृंखला की कहानी का निर्माण करते समय पहले और दूसरे पैनल के पात्रों को समानांतर रखा जाता है।

पूरी श्रृंखला लंबी है, इसलिए इसमें अधिक सामग्री लगती है। ऐसे में गुणवत्तापूर्ण सामग्री प्राप्त करने और दर्शकों को बांधे रखने के लिए मुख्य भूमिका में तीन या अधिक पात्रों को दिखाया जाता है। प्रत्येक चरित्र की कहानी बताई और शामिल है। यह दर्शकों को कहानी से जोड़े रखता है। इस तरह की सीरीज के लिए कास्ट करना मजेदार है।

  • शांतनु भाके, कास्टिंग डायरेक्टर
    दूसरे एपिसोड का सुराग या संकेत पहले एपिसोड के अंत में दिया गया है। तभी अगला एपिसोड देखने की इच्छा पैदा होती है। यह विभिन्न पात्रों को दर्शकों को बांधे रखने में मदद करता है। कहानी को ट्विस्ट देने के लिए कई किरदारों को मुख्य भूमिका में दिखाया गया है। इससे कहानी को एक तरह की गहराई भी मिलती है।
  • अक्षय बर्दापुरकर, सीएमडी, प्लैनेट मराठी

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: