जोशीमठ के लोगो पर अब मौसम की मार‚ घर के बाहर रखे सामान पर भी जमने लगी बर्फ

घर के बाहर रखे सामान पर जम गई बर्फ

उत्तराखंड–  जोशीमठ में भूस्खलन के बाद अब बेघर हुए लोगों पर मौसम की मार पड़ी है। बारिश और बर्फबारी के बाद पहले से ही मुश्किलों का सामना कर रहे आपदा प्रभावित लोगों की परेशानी बढ़ गई है. घरों में दरारें आने से लोग सामान को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट नहीं कर पा रहे हैं। घर के बाहर कई परिवारों का सामान पड़ा है, जिस पर बर्फ जम गई है. साथ ही प्रशासनिक स्तर पर किए जा रहे आपदा प्रबंधन व राहत कार्यों में भी व्यवधान बढ़ा है।

यह भी पढ़ें- BIG NEWS: जम्मू के नरवाल इलाके में सीरियल ब्लास्ट, पांच लोग घायल, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरा

गुरुवार देर रात से मौसम ने अचानक करवट बदली और बर्फबारी शुरू हो गई। जो शुक्रवार सुबह तक जारी रहा। इसके बाद बरसात का दौर शुरू हो गया। लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी घरेलू सामान शिफ्ट करने में हुई। कई लोगों का सामान घर के बाहर पड़ा हुआ था। उसे सुरक्षित स्थान पर ले जाने के लिए कर्मचारी उसे ढूंढ नहीं पा रहे हैं।

ठंड से बचाव करते हुए प्रभावित लोग

खराब मौसम के कारण सिंहधार में भूस्खलन से प्रभावित मलारी-इन और माउंट व्यू होटल, लोनिवि विश्राम गृह को तोड़ने समेत अन्य कार्य भी प्रभावित हुए हैं. वहीं, बारिश और बर्फ के पानी से शहर में पड़ी दरारें भर गई हैं। ऐसे में दरारें चौड़ी हो सकती हैं, जिससे भूस्खलन का खतरा बढ़ गया है। कई जगहों पर कीचड़ के कारण यात्रियों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें- पहलवानो के आगे झुकी मोदी सरकार‚ अध्यक्ष पद से हटाए गए बृजभूषण सिंह‚ धरना खत्म

इधर, सचिव आपदा प्रबंधन डॉ. रंजीत सिन्हा ने कहा, बारिश और बर्फबारी के कारण आपदा प्रबंधन और राहत कार्यों में व्यवधान आया है, लेकिन कोई काम नहीं रोका गया है.

चार घंटे से अधिक समय तक हिमपात
नगर क्षेत्र में शुक्रवार तड़के से झमाझम बारिश शुरू हो गई। इसके बाद सुबह 6 बजे से 10 बजे तक पूरे क्षेत्र में हिमपात होता रहा। इस दौरान 3 से 5 इंच तक बर्फ जमा हो गई थी। मौसम में कुछ सुधार हुआ, लेकिन बादल छाए रहे। वहीं, नगर क्षेत्र में दोपहर बाद हल्की बारिश शुरू हो गई, जो देर शाम तक जारी रही। साथ ही चारों तरफ पहाड़ियों पर बर्फबारी हो रही है। खराब मौसम के चलते अधिकतम तापमान 8 और न्यूनतम 1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेंद्र अजय मुख्यमंत्री के विशेष प्रतिनिधि मनोनीत, बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय रोजाना मुख्यमंत्री को जोशीमठ भूस्खलन के बाद सरकार द्वारा किए जा रहे राहत और पुनर्वास कार्यों की रिपोर्ट देंगे. उन्हें जोशीमठ में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का विशेष प्रतिनिधि नामित किया गया। अजेंद्र अजय ने जोशीमठ आपदा पीड़ितों की सहायता के लिए 5 लाख रुपये का चेक भी सीएम को सौंपा है.