पुनर्जन्म: 8 साल पहले नाना की तेरहवीं के दिन हुआ बच्चे का जन्म, अब अपनी नानी को बताने लगा पत्नी

परिजनों ने जब आर्यन से बात की तो उसने 8 साल पहले मनोज की मौत की पूरा कहानी बता डाली. उसने बताया कि 8 साल पहले वह अपने खेत में पानी लगा रहा था. उसी खेत मे छोटा सा छेद था, जिसमे लगातार पानी जा रहा था तो मैंने उसे अपने पैर से बंद करने की कोशिश की. उसी दौरान उसको एक सांप ने काट लिया और वह बेहोश हो गया. उसे अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. वह अपने पीछे अपनी पत्नी, दो बेटों और एक बेटी को छोड़ गया. 

686
आर्यन और उसके नाना मनोज की फोटो

Mainpuri News: ‘पुनर्जन्म’ इसको लेकर सभी के अपने-अपने दावे हैं. कोई पुनर्जन्म में विश्वास करता है तो कोई पुनर्जन्म में विश्वास नहीं करता. कुछ धर्म पुनर्जन्म को मानते हैं तो कुछ इसको नहीं मानते. मगर हमेशा से ऐसे लोग सामने आते रहे हैं, जो अपने पुनर्जन्म के बारे में जानकारी होने का दावा कर डालते हैं. कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है।

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से. दरअसल मैनपुरी में एक 8 साल का बच्चा, अपनी ही नानी को अपनी पत्नी बता रहा है. उसका कहना है कि उसकी नानी पुनर्जन्म में उसकी पत्नी थी.

दरअसल जैसे ही बच्चा अपनी नानी के यहां गया, वह अजीबो-गरीब हरकतें करने लगा. नानी के घर जाते ही वह चौंक गया. उसकी हरकतों से उसके परिवार वाले भी सकते में आ गए कि बच्चे को हुआ क्या? बता दें कि मासूम का नाम आर्यन है, लेकिन नानी के घर जाते ही वह खुद को मनोज मिश्रा कहने लगा. दरअसल मनोज की मौत 8 साल पहले हो चुकी है और वह रिश्ते में आर्यन के नाना थे.

आर्यन ने मनोज से जुड़ी कुछ ऐसी चीजें भी बता डाली जिसे सुन मनोज का परिवार भी हैरान रह गया.

हैरानी की बात यह है कि मनोज की मौत सांप के काटने से 8 साल पहले हुई थी और आर्यन की भी उम्र 8 साल ही है और वह पुनर्जन्म में मनोज होने की बात कह रहा है.

मामा को बताने लगा अपना बेटा

दरअसल ये हैरान कर देने वाला मामला मैनपुरी जिले के थाना एलाउ के गांव मंगलपुर से सामने आया है. 8 साल का आर्यन अपनी नानी के घर गया. मिली जानकारी के मुताबिक, मां ने आर्यन से कहा कि बेटा अपनी नानी के पैर छुओ और उनका आशीर्वाद लो. इतना सुनते ही आर्यन नाराज हो गया.

इस दौरान आर्यन ने जो कहा, उसे सुन सभी सन्न रह गए. मासूम ने कहा कि यह उसकी नानी नहीं बल्कि उसकी पत्नी है. यहां तक की वह अपने मामा को ही अपना बेटा बताने लगा. परिजनों को कुछ समझ नहीं आया. वह खुद मनोज होने का दावा करने लगा. यहां तक की उसने कुछ ऐसी बातें भी बता डाली, जिसे सुन मनोज का पूरा परिवार सकते में आ गया.

मासूम ने बताई पुनर्जन्म में मौत की कहानी

परिजनों ने जब आर्यन से बात की तो उसने 8 साल पहले मनोज की मौत की पूरा कहानी बता डाली. उसने बताया कि 8 साल पहले वह अपने खेत में पानी लगा रहा था. उसी खेत मे छोटा सा छेद था, जिसमे लगातार पानी जा रहा था तो मैंने उसे अपने पैर से बंद करने की कोशिश की. उसी दौरान उसको एक सांप ने काट लिया और वह बेहोश हो गया. उसे अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. वह अपने पीछे अपनी पत्नी, दो बेटों और एक बेटी को छोड़ गया.

जिस समय मनोज मिश्रा की मौत हुई तो उनकी बेटी रंजना गर्भवती थी. मनोज की तेरहवीं के दिन ही रंजना ने एक बेटे को जन्म दिया, जिसका नाम आर्यन रखा गया. अब वहीं आर्यन पिछले जन्म में खुद को मनोज मिश्रा होने की बात कह रहा है.

4 साल की उम्र में मां को बेटी कहने लगा आर्यन

मिली जानकारी के मुताबिक, आर्यन जब 4 साल का था तभी से उसने अपनी मां को अपनी बेटी कहना शुरू कर दिया था. मगर तब इसे मजाक में लिया गया और किसी ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. उस दौरान भी आर्यन कुछ अजीबो-गरीब बाते करता रहता. मगर सारी बातें बचपने में ले ली गईं.

अब जब आर्यन अपनी नानी के यहां आया तो उसने अपनी नानी को अपनी पत्नी, अपने दोनों मामाओं को अपना बेटा बताया. मिली जानकारी के मुताबिक, आर्यन ने बताया कि ये घर भी उसने पिछले जन्म में बनवाया है. आर्यन ने कुछ ऐसी जानकारियां भी दी हैं, जो सिर्फ परिवार के लोगों के पास थी. वह परिजनों से पुरानी बाते भी कर रहा है.

परिवार व इलाके के लोग इसे पुनर्जन्म मान रहे हैं. 8 साल के बच्चे आर्यन की कहानी ने एक बार फिर ये सोचने के लिए मजबूर कर दिया है कि क्या पुनर्जन्म वाकई में सच है?