Meerut: मवाना में बंदरों के हमले से बचने के लिए छत से कूदे किशोर को लगी गंभीर चोटें, उपचार के दौरान मौत

संवाददाता: प्रवीण सैनी

मेरठ: मवाना में बीते शनिवार शाम को बंदरों के हमले से बचने के लिए एक किशोर छत से कूद गया। जिससे उसके सिर की हड्डी टूट गई। घायल किशोर का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। 3 दिनों से अस्पताल में भर्ती घायल किशोर ने बुधवार को दम तोड़ दिया। किशोर की मौत से परिजनो में हड़कंप मच गया है।

जानकारी के अनुसार, मवाना नगर के मोहल्ला कल्याण सिंह निवासी होमगार्ड मोहसिन के 15 वर्षीय पुत्र शामी शनिवार को छत पर घूम रहा था। अचानक से बंदरों का एक झुंड छत पर आ गया और किशोर शामी को घेर कर हमला करने का प्रयास किया। बंदरो के हमले से बचने के लिए वह छत से कूद पड़ा।

छत से नीचे कूदने पर किशोर की सिर की हड्डी टूट गई और गंभीर रूप से घायल हो गया था। परिजनों ने  गंभीर घायल किशोर को मेरठ के निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया। जहां उसका तीन दिन से इलाज चल रहा था। बुधवार सुबह किशोर सामी ने अस्पताल में दम तोड दिया। मौत से पूरे परिवार में कोहराम मचा है।

पूर्व चेयरमैन अय्यूब कालिया ने बताया कि कई बार बंदरों के आतंक से निजात दिलाने के लिए मांग उठाई जा चुकी है। लेकिन, वन विभाग के अधिकारियों की अनदेखी से बंदरों के आतंक से निजात नहीं मिल सकी है।