लखनऊ में 5 मंजिला इमारत गिरी, 5 की मौत, 30-35 लोगो के मलबे में दबे होने की आशंका, डिप्टी सीएम मौके पर

घायल को इलाज हेतु ले जाते पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश: लखनऊ के हजरतगंज क्षेत्र के वजीर हसन रोड पर स्थित एक इमारत के गिरने से 5 लोगो की मौत हो गई है जबकि 30 से 35 लोग अंदर दबे होने की आशंका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही SDRF व NDRF की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए। बताया जा रहा है कि आज आए भूकंप के बाद इमारत में दरारें आ गई थीं। लेकिन किसी ने इस पर गौर नहीं किया। 

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक

घटना के बाद मौके पर पहुंचे सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा ने बताया कि सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अब्बास हैदर के माता-पिता की सोमवार को 50वीं सालगिरह थी। घर मे पार्टी का आयोजन हुआ था। जिस कारण घर में ज्यादा लोग मौजूद थे। उन्होंने बताया कि अब्बास के पिता अमीर हैदर व बेटा मुस्तफा को सुरक्षित निकाल लिया गया है। पत्नी उजमा और मां बेगम अमीर हैदर अभी भी मलबे में दबे हैं। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त हैदर घर पर नहीं थे। पड़ोस के अपार्टमेंट की दीवार काटकर रेस्क्यू किया जा रहा है। 

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने ने मौके पर पहुंचकर घटना को पूरी जानकारी ली। डिप्टी सीएम ने बताया कि  फिलहाल सात लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल भेजा गया है। ये सभी बेहोश थे। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। लोग कह रहे हैं कि इमारत में 30-35 परिवार रह रहे थे

उत्तर प्रदेश के डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि जिस समय बिल्डिंग गिरी उस समय 8 परिवार बिल्डिंग के अंदर थे। 5 लोग सकुशल निकाल लिए हैं। लगभग 30-35 लोगों के अंदर होने की संभावना है। रेस्क्यू ऑपरेशन युद्ध स्तर पर जारी है