उत्तर प्रदेश: सुल्तानपुर जिले में भैरवपुर के पास ड्रेन से मिट्टी निकाल रहीं पांच बच्चियां पानी में डूब गईं। घटना के वक्त वहां पर मौजूद एक बच्ची ने  इसकी सूचना परिजनों को दी तो मौके पर सैकड़ों ग्रामीण पहुंचे। ड्रेन चार बच्चियों के शव मिल चुके हैं पांचवीं बच्ची की तलाश में गोताखोर जुटे हैं। एक साथ चार बच्चियों की मौत से गांव में कोहराम मचा है। सूचना पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुंच गए हैं।

जानकारी के अनुसार, जिले के मोतिगरपुर थाना क्षेत्र के खजुरी गांव निवासी अजान (13 वर्ष), नाजमा (13),आसिया बानो (13 वर्ष), आसमीन (13 वर्ष), खुशी (9 वर्ष) व सुंदरा (7) शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे पड़ोस के गांव भैरवपुर के पास स्थित ड्रेन से मिट्टी लाने के लिए घर से निकली थीं। सभी छह बच्चियां ड्रेन से गीली मिट्टी निकाल कर किनारे रख रही थीं। इसी बीच खुशी पानी में डूबने लगी तो उसे बचाने के लिए अजान, नाजमा, आसिया और आसमीन भी पानी में उतर गईं। देखते ही देखते पांचों बच्चियां पानी में डूब गईं।

नदी के किनारे खड़ी सुंदरा ने लड़कियों को पानी में डूबते देखा तो भागकर गांव पहुंची और परिजनो को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही परिजनों के साथ ही खजुरी गांव के लोग भागकर भैरवपुर ड्रेन के पास पहुंचे। सूचना पर कई गोताखोरो ने करीब दो घंटे की खोजबीन के बाद चार बच्चियों अजान, नाजमा, आसमीन और आसिया बानो के शव को पानी से बाहर निकाल लिया, जबकि एक बच्ची खुशी की तलाश जारी है।

एक साथ चार मौतों की सूचना मिलते ही डीएम रवीश गुप्ता, एसपी सोमेन बर्मा, एसडीएम संजीव यादव और सीओ जयसिंहपुर प्रशांत कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। गांव में एक साथ 4 मौतों से हड़कंप मच गया है।

Manoj Kumar