फाइल फोटो ओमप्रकाश

उत्तर प्रदेश: अलीगढ़ जिले में एक दलित युवक की बाग में पेड़ से एक अमरूद तोड़ने पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद शव वहीं पर फेंक कर चले गए। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक ओमप्रकाश को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया। जिसके पश्चात पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर दो लोगों को गिरफ्तार कर है। दोनों पर हत्या और एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

जानकारी लेते पुलिसकर्मी


जानकारी के अनुसार, अलीगढ़ के गंगारी थाना क्षेत्र के गांव मंनेगा निवासी राजपाल सिंह और योगेंद्र सिंह का दस बीघे का अमरूद का बाग पट्टे पर गांव हुसैपुर निवासी बनवारी लाल पुत्र सत्यपाल सिंह ले रखा है। शनिवार दोपहर बनवारी और भीमसेन पुत्र भूदेव सिंह निवासी बिहारीपुर  बाग की रखवाली कर रहे थे। इसी दौरान 25 वर्षीय ओमप्रकाश सिंह ने उस बाग से एक अमरूद तोड़ लिया।

बाग की रखवाली कर रहे दो लोगों ने ओमप्रकाश को अमरूद तोड़ते देख लिया जिसको लेकर उनके बीच विवाद हो गया। अमरूद तोड़ने का विवाद इतना बढ़ गया कि बाग की रखवाली करने वाले भीमसेन और बनवारीलाल ने ओमप्रकाश को लाठियों से पीटना शुरू कर दिया। दोनो रखवालों ने उसको इतना मारा कि वो अचेत होकर वहीं पर गिर पड़ा। ओमप्रकाश के परिवार को यह बात पता चली तो उन्होंने पुलिस को घटना के बारे में बताया।

आनन फानन में ओमप्रकाश को अस्पताल ले जाया गया  वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने ओमप्रकाश के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शनिवार देर शाम ओमप्रकाश का दाह संस्कार कर दिया गया। इस मामले में गंगीरी थाना पुलिस ने दोनों आरोपी  बनवारीलाल और भीमसेन को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों पर एससी-एसटी एक्ट और हत्या की धारा 302 के तहत केस दर्ज किर लिया गया है।

Manoj Kumar