Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

UP Panchayat Chunav Results 2021: पंचायत चुनाव में BJP को हर जगह करारी शिकस्‍त, SP-BSP ने मारी बाजी

UP Panchayat Chunav Results- वाराणसी‚ अयोध्या‚ मथुरा और मेरठ में बीजेपी को करारी शिकस्त मिली है। इन जिलों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खास मेहरबानी के बाद भी लोगो ने बीजेपी के प्रति बेरुखी दिखाई है। दूसरी ओर समाजवादी पार्टी एवं बसपा को मिली जीत बड़ा सियासी संकेत भी दे रही है।

खबर शेयर करें

UP Panchayat Chunav Results 2021: उत्तर प्रदेश में हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम लगभग जारी हो चुके हैं। जिसमें सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को अधिकांश जनपदों में करारी शिकस्त मिली है। जो यह बताने के लिए काफी है कि प्रदेश में लोगों का अब भारतीय जनता पार्टी से विश्वास उठ रहा है। वहीं सपा और बसपा (BSP) ने पंचायत चुनाव से प्रदेश में वापसी की है।

मेरठ‚ मथुरा‚ आयोध्या‚ और वाराणसी में BJP का बुरा हाल

वाराणसी‚ अयोध्या‚ मथुरा और मेरठ में बीजेपी को करारी शिकस्त मिली है। इन जिलों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खास मेहरबानी के बाद भी लोगो ने बीजेपी के प्रति बेरुखी दिखाई है। दूसरी ओर समाजवादी पार्टी एवं बसपा को मिली जीत बड़ा सियासी संकेत भी दे रही है।

अयोध्या

अयोध्या में भाजपा को जिला पंचायत चुनाव ( District Panchayat Member ) में करारी हार झेलनी पड़ी है। जिले की 40 जिला पंचायत सीटों में से 24 पर समाजवादी पार्टी ने कब्जा कर लिया है। जबकि भाजपा के खाते में सिर्फ 6 सीटें आई हैं। इसके अलावा यह 12 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है। हैरानी की बात यह है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। लेकिन जनता ने राम मंदिर निमार्ण में अहम योगदान करने वाली भाजपा को जिला पंचायत की रेस से बाहर कर दिया है।

वाराणसी में चली साइकिल

वाराणसी में भी भाजपा को बड़ी हार झेलनी पड़ी है। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जिला पंचायत की 40 सीटों में से समाजवादी पार्टी ने 14 सीट कब्जा ली है। जबकि अपना दल ने तीन और आम आदमी पार्टी ने एक सीट पर कब्जा किया है। यहां बीजेपी के खाते में यहां 8 सीटें गई हैं। आपको बता दें साल 2015 में भाजपा को काशी में हार मिली थी। लेकिन योगी सरकार बनने के बाद यहां जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी भाजपा ने सपा से छीन ली थी।

मथुरा

भगवान कृष्ण की नगरी मथुरा में भी बीजेपी के खिलाफ नतीजे आए हैं। यहां भाजपा के लिए बड़ी मुसीबत खड़ कर बसपा ने 12 सीटें कब्जा ली है। वही अजीज सिंह की आरएलडी ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की है। भाजपा के हिस्से में यहां भी केवल 8 सीटें ही आई हैं। इसके अलावा सपा ने एक तो 3 सीटों पर निर्दलीय ने अपना परचम लहराया है।

मेरठ

मेरठ की बात करे तो यहां पर भी बहुजन समाज पार्टी ने इतिहास रचा है। जनपद की कुल 33 जिला पंचायत सीटों में से 9 पर बसपा ने कब्जा जमा लिया है। जबकि सपा के हिस्से में 7 सीटें आई हैं। भाजपा तीसरे नंबर पर रहते केवल 6 सीटों पर ही बढ़त बना पाई है। वही रालोद भी 6 सीट जीत रही है।

आपको बता दे कि मेरठ में की 7 विधानसभा सीटों में 6 पर बीजेपी का कब्जा है। जनपद में बीजेपी के 6 विधायक होने के बावजूद भी जिला पंचायत चुनाव में करारी शिकस्त मिलना बड़ा सियासी संकेत दे रही है। 2015 में यहां भी जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी सपा के अतुल प्रधान के पास थी जिसे योगी सरकार बनने के बाद बीजेपी ने छीन लिया था और कुलविंदर सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष बने थे।

ये भी पढ़ें- IPL: कई खिलाड़ियों के कोरोना संक्रमित होने के बाद BCCI ने किया IPL स्थगित

ये भी पढ़ें- Meerut: टीकाकरण सेंटर पहुंचे BJP सांसद को देख भड़के युवा, कहा.. हॉस्पिटल में ऑक्सीजन नहीं है वहां करो निरीक्षण

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement