Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

Meerut: इंस्पेक्टर से परेशान महिला दरोगा बीच सड़क पर रोई जार-जार‚ लगाए गंभीर आरोप

सोमवार दोपहर अलका चौधरी नाम महिला दरोगा हापुड़ रोड़ पर स्कूटी से जा रही थी तभी अचानक उनको चक्कर आया और वह सड़क पर गिरते गिरते बाल बाल बची। हालत खराब देख बिजली बंबा चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने महिला दरोगा को चौकी पर बैठा लिया।

खबर शेयर करें

Meerut police: लोगों को इंसाफ दिलाने वाली पुलिस ही जब खुद इंसाफ के लिए रोते हुए सड़को पर आ जाए तो तमाशा खड़ा होना लाजमी है। मामला मेरठ के महिला थाने का है जहां महिला थाना इंजार्ज से परेशान एक महिला दरोगा इस कदर टूट गई कि वो बीच सड़क पर रोते हुए हंगामा करने लगी।

महिला दरोगा ने थाना इंचार्ज पर तबीयत खराब होने के बावजूद भी ड्यूटी का दबाव बनाने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान मौके पर पहुंची आरोपी महिला थाना इंचार्ज ने खुद ही महिला दरोगा का वीडियो बनाना शुरू कर दिया जिसको देखकर महिला दरोगा और आग बबूला हो गई और अपने शॉल से ही अपना गला दबाकर आत्महत्या की। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने महिला दरोगा को संभाला और निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

ये घटना तब हुई जब सोमवार दोपहर अलका चौधरी नाम महिला दरोगा हापुड़ रोड़ पर स्कूटी से जा रही थी तभी अचानक उनको चक्कर आया और वह सड़क पर गिरते गिरते बाल बाल बची। हालत खराब देख बिजली बंबा चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने महिला दरोगा को चौकी पर बैठा लिया। इसी दौरान महिला दरोगा फूट-फूट कर रोने लगी। दरोगा ने थाना प्रभारी संध्या सिंह पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए बताया कि मैं पिछले 1 महीने से बीमार चल रही हूं लेकिन महिला थाना प्रभारी संध्या सिंह उन पर लगातार ड्यूटी का दबाव बना रही है।

यही नही ड्यूटी ना करने पर थाना प्रभारी संध्या सिंह उसके खिलाफ FIR दर्ज करने तक की धमकी देती है। अलका चौधरी ने रोते हुए बताया कि वह थाना प्रभारी संध्या सिंह के उत्पीड़न के चलते में डिप्रेशन में चली गई है। वह बहुत परेशान है।

महिला दरोगा ये सब बता ही रही थी कि तभी थाना प्रभारी संध्या सिंह मौके पर पहुंच गई और मोबाइल से महिला दरोगा की वीडियो बनाने लगी। ये देख महिला दरोगा अपना आपा खो बैठी और गले में पड़ी हुई शॉल से फंदा लगाकर सुसाइड करने की कोशिश करने लगी।

देंखे वीडियों

मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने महिला दरोगा से किसी तरीके से शॉल छीनी और उन्हें बचाया। जिसके बाद महिला दरोगा अलका चौधरी को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल इस पूरे मामले पर पुलिस का कोई अधिकारी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement