Connect with us

Hi, what are you looking for?

राजस्थान

Alto की टंकी 35 लीटर की‚ डाल दिया 43 लीटर तेल‚ हाथ जोड़ने लगा पेट्रोल पम्प मालिक

हैरानी की बात यह है कि कार की टंकी में 5 लीटर तेल पहले से ही मौजूद था‚ बावजूद इसके पम्प कर्मचारी ने उसमें 43 लीटर तेल और डाल दिया। कार मालिक ने हैरानी जताते हुए कहा कि 35 लीटर के फ्यूल टैंक में उसने 43 लीटर पेट्रोल आखिर कैसे डाल दिया। कम तेल को लेकर दोनों तरफ से हंगामा होने लगा। ग्राहक ने अपने लोगों और पुलिस को भी बुला लिया।

खबर शेयर करें

राजस्थान: ऑल्टो कार [alto car] की टंकी सामान्य तौर पर 35 लीटर की होती है‚ लेकिन इस 35 लीटर की टंकी में पेट्रोल पंप [Petrol pump] कर्मचारी ने 43 लीटर तेल भर दिया। हैरान मत होइए‚ यह कारनामा कर दिखाया है राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले में स्थित एक पेट्रोल पंप कर्मचारी ने‚ जिसने रात के अंधेरे में कार में कम पेट्रोल भरवाने पहुंचे ग्राहक के साथ ये खेल दिया। इसके बाद कम तेल डालने को लेकर जमकर हंगाम हुआ।

एक तरफ डीजल और पेट्रोल के दाम रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं तो वहीं पेट्रोल पंप संचालक भी कर्मचारियों की मिलीभगत से लोगों को डबल चूना लगा रहे हैं। जानकारी के अनुसार गुरुवार रात हनुमानगढ़ टाउन के चिमनलाल पेट्रोल पंप पर एक ग्राहक अपनी अल्टो कार में तेल डलवाने पहुंचा। उसने कार की टंकी फुल करने के लिए कहा।

हैरानी की बात यह है कि कार की टंकी में 5 लीटर तेल पहले से ही मौजूद था‚ बावजूद इसके पम्प कर्मचारी ने उसमें 43 लीटर तेल और डाल दिया। कार मालिक ने हैरानी जताते हुए कहा कि 35 लीटर के फ्यूल टैंक में उसने 43 लीटर पेट्रोल आखिर कैसे डाल दिया। कम तेल को लेकर दोनों तरफ से हंगामा होने लगा। ग्राहक ने अपने लोगों और पुलिस को भी बुला लिया।

गहमागहमी के बीच कार की टंकी से तेल निकालकर चेक किया गया तो तेल वाकई में कम निकला। इसके बाद लोग आक्रोशित हो गए और ज्यादा हंगामा करने लगे। पब्लिक के गुस्से को देखते हुए पेट्रोेल पम्प संचालक ने हाथ जोड़ते हुए गलती मान ली। मौके पर स्थानीय पार्षद भी पहुंच गए जिन्होंने पेट्रोल पंप संचालक का पक्ष लेते हुए मामले को रफा-दफा करने के लिए दबाव बनाया। आखिरकार ग्राहक ने पेट्रोल पंप मालिक से 51000 रूपए गुरुद्वारे में जमा कराने की पेनल्टी पर समझौता कर लिया।

यह भी पढ़ें- Meerut: Airforce Officer के बेटे ने हिंदुस्तान पेट्रोलियम की फर्जी पोर्टल बनाकर करोड़ो रुपये ठगे

खास बात यह है कि पेट्रोल पंप मालिक पहले तो इस समझौते पर राजी हो गया लेकिन बाद में मुकर गया। पेट्रोल पंप मालिक कहने लगा वह इतनी बड़ी रकम नहीं दे पाएगा। वह केवल 21 हजार रूपए ही दान कर पाएगा। घंटों हंगामे के बीच पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। मौके पर पहुंचे टाउन थाना अधिकारी ने वे दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत कराया।

यह भी पढ़ें- गजब! MP में पुलिस की खड़ी गाड़ियां भी देती हैं 140 का माइलेज

गौर करने वाली बात यह है कि यह कोई पहला मामला नहीं है कि जब पेट्रोल पंप पर ग्राहक के साथ घाटोली की घटनाएं सामने आई है। रोजाना कहीं ना कहीं इस तरह की घटनाएं देश भर में होती रहती हैं। बावजूद इसके सरकार या प्रशासन की तरफ से पेट्रोल पंप संचालकों पर कोई अंकुश नहीं लगाया जा रहा है। यह लोग तेल डालने में गड़बड़ी करके जनता पर दोहरी मार डाल रहे हैं।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: