Connect with us

Hi, what are you looking for?

राज्य/ states

मंहगाईǃ रिकार्ड तोड़ महंगाई ने किया जीना मुहाल‚ सब्जियों के बाद आटा‚ दाल-चावल और तेल की कीमतों ने छुआ आसमान

नई दिल्ली. कोरोना काल के चलते आर्थिक रूप से टूट चुका आम आदमी किसी तरह दोबारा उठने की कोशिश कर रहा है लेकिन दिन-प्रतिदिन बढ़ रही महंगाई उसे संभलने का मौका नही दे रही है. आलम यह है कि आटा-दाल से लेकर तेल और सब्जियां तक बजट से बाहर होती जा रही हैं. जिसके चलते आम आदमी के किचन से जरूरी चीजे गायब होती जा रही हैं. सबसे ज्यादा तेल (Oil), चावल (Rice), और चाय पत्ती (Tea) के दामों में बढ़ोतरी हुई है. दिसंबर 2020 से लेकर अब तक इन उत्पादों की दामों में डेढ़ गुना तक इजाफा हो गया है. उपभोक्ता मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर नए दामों की लिस्ट जारी करते हुए ये जानकारी शेयर की है.

पेट्रो पदार्थ भी लगातार हो रहे हैं महंगे

तेल कंपनियों द्वारा पिछले कुछ दिनों से डीजल के दाम में लगातार इजाफा किया जा रहा है. चिंता की बात ये है कि आने वाले समय में इंटरनेशल मार्केट में कच्चे तेल के दाम और बढ़ने की संभावना है. जिसके चलते डीजल और पेट्रोल के दाम और अधिक बढ़ सकते हैं. ऐसे में ट्रांसपोर्टरों द्वारा भाड़ा भी और बढ़ाया जा सकता है. जिससे महंगाई और अधिक बढ़ जाएगी.

400 से 500 रूपए तक बढ़े तेल के भाव

उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर दिए गए खुदरा केंद्रों के आंकड़ों के मुताबिक 1 जनवरी 2021 की तुलना में 22 जनवरी 2021 को पैक पाम तेल 107 रुपये से बढ़कर करीब 112 रुपये, सूरजमुखी तेल 132 से 141 और सरसों तेल 140 से करीब 147 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. वनस्पति तेल 5.32 फीसद महंगा होकर 105 से 110 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. अगर पिछले तीन माह के दामों की तुलना करें तो सरसों के तेल [मध्यम स्तर] का टीन [15kg] के दामों में 400 से लेकर 500 रूपए तक का इजाफा हो चुका है.

दालों के दामों में भी इजाफा

अगर दालों की बात करें तो अरहर यानी तूअर की दाल में मामूली इजाफा हुआ है. अरहर दाल 103 रुपये किलो से करीब 104 रुपये पर पहुंच गई है. उड़द दाल 107 से 109, मसूर की दाल 79 से 82 रुपये पर पहुंच चुकी है. मूंग दाल 104 से 107 रुपये पर चली गई है. चावल में 10.22 फीसद का उछाल आया है. 34 से अब यह करीब 38 रुपये हो गया है.

इन्ही दोलों की अगर खुदरा मार्केट में कीमतों की बात करें तो अरहर दाल 120 रुपये किलो से करीब 130 रुपये पर पहुंच गई है. उड़द दाल 125 से 130, मसूर की दाल 90 से 110 रुपये पर पहुंच चुकी है. मूंग दाल 114 से 117 रुपये पर चली गई है. वही चावल के दामों में थोक मार्केट के मुकाबले 10 रूपए प्रति किलों अधिक दामों पर बिक्री हो रही है.

चाय के दामों रिकार्ड बढ़ोतरी

चाय के दामों की बात करें तो इसके भाव में रिकार्ड तोड़ बढ़ोतरी हो रही है. खुली चायपत्ती इस समयावधि में 9 फीसद बढ़कर 246 से 269 रुपये पर पहुंच गई है. वहीं पैकिंग वाली चायपत्ती पर प्रति किलो 50 से 150 रुपये तक दाम बढ़े हैं. प्रिमियम कैटेगरी की चाय में 300 रुपये से ऊपर वाली खुली पत्ती के दाम भी करीब डेढ़ गुना हो गया है.

आगे इन चीजों के दामों में भी होने वाली है बढ़ोतरी

साबुन, दंतमंजन जैसे सामानों की कीमतों में अभी तक कोई खास इजाफा नही हुआ है. लेकिन आने वाले समय में इन चीजों को खरीदने पर आपकी जेब ढीली होने वाली है. इसकी वजह कच्चे माल के दामों में बढ़ोतरी हाेना बताया जा रहा है. इनका उत्पादन करने वाली कंपनियां कच्चे माल के दाम बढ़ने की वजह से अपने उत्पादों के दाम बढ़ाने पर विचार कर रहीं हैं. इनमें से कुछ कंपनियों ने तो पहले ही दाम बढ़ा दिये हैं, जबकि कुछ अन्य करीब से स्थिति पर नजर रखे हुये हैं और मामले पर गौर कर रहीं हैं.

सरकार के इस कानून ने किया आग में घी का काम

कोरोना काल से उभरने के लिए सरकार से आस लगाए बैठे आम-आदमी को निराशा ही हाथ लगी है. राहत पैकेज तो दूर की बात सरकार मंहगाई पर लगाम नही लगा पा रही है. उल्टा हाल ही केन्द्र सरकार द्वारा जारी कृषि कानूनों में किए गए बदलावों ने भी मंहगाई को बढ़ाने में अहम रोल अदा किया है. इसमें आवस्यक वस्तु अधिनियम कानून में संसोधन ने मुख्य भूमिका निभाई है इस कानून में बदलाव होने से अनाज, दलहन, तिलहन, खाद्य तेलों, प्‍याज और आलू जैसी वस्‍तुओं को आवश्‍यक वस्‍तुओं की सूची से हटा दिया गया है. यानि अब जमाखोर आसानी से इनका स्टॉक लगा सकते है. इसी वजह से इन वस्तुओं के दामों भारी बढ़ोतरी हो रही है.

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: