Connect with us

Hi, what are you looking for?

हरियाणा

पूनम जाटव पर एमडीयू में हुए शोषण के खिलाफ भीमसेना का प्रदर्शन‚ प्रशासन को दिया 15 दिन का अल्टीमेटम

Bhimasena protest against Poonam Jatav's exploitation in MDU, 15-day ultimatum given to administration

रोहतक:- महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी के फिजिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर रही अनूसूचित जाति की महिला पूनम जाटव पर वर्ष 2018 में हुए जातीय शोषण ने 2021 में उग्र मोड़ ले लिए है। पूनम जाटव द्वारा सोशल मीडिया पर जारी की गई विडियो से बवाल मच गया और देश के बड़े संगठन भीमसेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर ने शुक्रवार को एमडीयू रोहतक के बाहर प्रदर्शन का ऐलान कर दिया। हजारों की संख्या में भीम सैनिक हरियाणा के रोहतक, झज्जर, तावडू, सोनीपत, बहादुरगढ़ आदि और उत्तर प्रदेश व राजस्थान से भी भीमसेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर के आहवान पर एमडीयू के बाहर इक्कठा हुए। प्रदर्शन का नेतृत्व स्टूडेंट भीमसेना हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष यमन गुढ़ा कर रहे थे।

वर्ष 2018 में एमडीयू में कार्यरत रही फिजिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में असिस्टेंट प्रोफेसर पूनम जाटव के साथ जातीय शोषण हुआ था। आरोप था कि डिपार्टमेंट के हेड डॉ० आरपी गर्ग ने पूनम जाटव जाटव पर अवैध रूप से शारीरिक सम्बंध बनाने का दवाब डाला गया। जब पूनम जाटव ने इसका विरोध किया तो उन्हें मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया। प्रोफेसर आरपी गर्ग ने एमडीयू के सिक्योरिटी इंचार्ज बलराज सिंह से उनके हाथ-पांव पकड़ कर उन्हें घसीटा गया और उनके साथ मारपीट की गई।

आरोप है कि आरपी गर्ग ने साजिशन पूनम जाटव को नौकरी से निकलवा दिया। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़ से पूनम जाटव को नौकरी पर पुनः बहाल करने के आदेश जारी किए गए परन्तु उन्हें नौकरी पर नहीं लगाया गया और ना ही उनकी सैलरी दी गई। साथ ही सरकार के दवाब में पुलिस ने डॉ० आरपी गर्ग और सिक्योरिटी इंचार्ज बलराज सिंह आदि आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की।

घटना की विरोध के भीमसेना सड़कों पर उतर गई। पूनम जाटव ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी करके भीमसेना से मदद की गुहार लगाई थी। जिसपर भीमसेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष नवाब सतपाल तंवर ने वीडियो पर स्वतः संज्ञान लेते हुए निशा तंवर एडवोकेट को उनकी कानूनी सलाहकार नियुक्त किया और प्रदर्शन करके पूनम जाटव के लिए न्याय की आवाज बुलंद करने की जिम्मेदारी स्टूडेंट भीमसेना हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष यमन गुढ़ा को सौंपी। प्रदर्शन में हरियाणा सरकार, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, एमडीयू वीसी, एमडीयू प्रशासन, रोहतक प्रशासन, रोहतक पुलिस और भाजपा सरकार सहित प्रोफेसर आरपी गर्ग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। एमडीयू के गेट नं. 2 पर भीम सैनिक भारी मात्रा में इक्कठा होकर एमडीयू वीसी कार्यालय का घेराव करने पहुंचें।

इस दौरान भीमसेना ने रोड़ को पूरी तरह जाम कर दिया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचें पुलिस बल ने कार्रवाई का आश्वासन दिया। जिसपर भी भीमसेना शांत नहीं हुई। अंत में 15 दिन का अल्टीमेटम देते हुए एमडीयू प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें पूनम जाटव को तत्काल प्रभाव से नौकरी पर बहाल करने और उनकी अब तक की पूरी सैलरी ब्याज सहित देने की मांग की गई।

साथ ही प्रोफेसर आरपी गर्ग और सिक्योरिटी इंचार्ज बलराज सिंह सहित सभी आरोपियों के खिलाफ एससी/ एसटी एक्ट सहित अन्य आईपीसी धाराओं में मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग भी की गई। रोहतक प्रशासन और एमडीयू प्रशासन ने इन मांगों को जल्द पूरा करने का आश्वासन दिया है। भीमसेना स्टूडेंट विंग हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष यमन गुढ़ा ने सरकार को चेतावनी दी कि मामले पर 15 दिन के भीतर कार्रवाई नहीं की गई तो भीमसेना पूरे हरियाणा को बंद करेगी।

जिसमें भीमसेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर और भीमसेना के बड़े पदाधिकारी भी शामिल होंगे। हजारों की संख्या में भीम सैनिक अलग-अलग सभी जिलों में इकट्ठा होकर शहरों को बंद कराएंगे। यमन गुढ़ा ने बताया कि अपनी बहनों के सम्मान के लिए भीमसेना हमेशा तैयार है। बहनों के लिए वे गर्दन कटा भी सकते हैं और काट भी सकते हैं। यमन गुढ़ा ने चेतावनी दी कि प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है तो खून की नदियां बहाने में भी हम पीछे नहीं रहेंगे क्योंकि सवाल हमारी बहनों के सम्मान का है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: