Connect with us

Hi, what are you looking for?

बिहार

Bihar: बेटी होने पर पत्नी को अस्पताल में छोड़कर चला गया पति‚ किया अपनाने से इंकार

Bihar News: महिला के बेटी को जन्म देने की सूचना उसके पति प्रदीप साहनी को हुई वो आग बबूला हो गया. उसने मां और नवजात बेटी को अपने घर ले जाने से इनकार कर दिया. महिला मंगलवार की शाम से ही पति के इंतजार में अस्पताल में बैठी रही. इस बीच, जब मोहल्लेवाले पति को समझाने गए तो वो आत्महत्या करने के लिए पोखर (गांव का तालाब) में कूद गया

खबर शेयर करें

पश्चिम चंपारण. बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बगहा (Bagaha) में समाज को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई है. समाज में बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ (Beti Padhao, Beti Bachao) के नारे तो लग रहे हैं लेकिन कुछ लोगों की सोच आज भी नहीं बदली है.

बगहा नगर के शास्त्री नगर पोखरा टोला की रीता देवी ने मंगलवार की शाम को एक बच्ची को जन्म (Girl Child Birth) दिया था. इसकी सूचना महिला के पति प्रदीप साहनी को हुई वो आग बबूला हो गया. उसने मां और नवजात बेटी (Newly Born Girl) को अपने घर ले जाने से इनकार कर दिया. महिला मंगलवार की शाम से ही पति के इंतजार में अस्पताल में बैठी रही. इधर, जब मोहल्लेवाले पति को समझाने गए तो वो आत्महत्या (Suicide) करने के लिए पोखर (गांव का तालाब) में कूद गया.

अस्पताल प्रबंधन की सख्ती के बाद मां-नवजात बच्ची को ले गये परिजन

महिला को गर्भवती हालत में अस्पताल में लेकर आई आशा कार्यकर्ता पुष्पा ने बताया कि प्रदीप साहनी ने फोन पर गुस्से में कहा है कि बच्ची के साथ औरत (पत्नी) घर पर नहीं आनी चाहिए. अगर आ गई तो मैं उसकी हत्या कर दूंगा. वहीं, अस्पताल में महिला की सास को स्थानीय लोगों और स्वास्थ्यकर्मियों ने भी लाख समझाया लेकिन वो नवजात और उसकी मां को घर ले जाने को तैयार नहीं हुई. अस्पताल से लेकर आसपास के वार्डों में यह घटना चर्चा का विषय बना हुआ है.

अस्पताल विधि व्यवस्था के प्रभारी उपाधीक्षक डॉक्टर राजेश सिंह नीरज ने बताया कि महिला ने मंगलवार की शाम एक बेटी को जन्म दिया है. इस वजह से उसके परिजन उस पर भड़के हुए हैं और नवजात बच्ची को घर नहीं ले जाना चाह रहे हैं. हालांकि घंटों तक ड्रामा करने के बाद महिला की सास बुधवार की दोपहर उसे और उसकी बेटी को अपने साथ ले गई. वहीं, बच्ची की मां अभी भी डरी सहमी है.

पांच साल पहले हुई है शादी

मिली जानकारी के मुताबिक महिला रीता देवी की शादी प्रदीप साहनी से पांच वर्ष पहले हुई. इन वर्षों में महिला ने तीन बच्चों को जन्म दिया, तीनों बार उसे बेटी पैदा हुई. हालांकि इनमें से एक लड़की की मौत हो गई थी. यह चौथी बार है जब महिला ने बच्ची को जन्म दिया. मंगलवार की शाम को डिलीवरी होने के बाद महिला अस्पताल में बैठी अपने पति का राह देखती रही. उसका कहना है कि बच्ची का लालन पालन वो कर लेगी. लेकिन इसके बावजूद परिजन उसे ले जाने से मना करते रहे.

रीता देवी ने अपने साथ हुई पूरी घटना को बताते हुए फफक पड़ी. उसने बताया कि वो जमुनापुर बिरौली की रहने वाली है. उसकी शादी बगहा में हुई है. पति बच्ची के साथ घर आने से मना कर रहा है. लेकिन उसके मायके में अब मां-बाप जीवित नहीं हैं, जिनके पास जाकर वो रह सके.

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: