आरोपी डॉक्टर

सोनभद्र: रुपये लेकर फर्जी मेडिकल बनाने के आरोप में पुलिस ने गुरुवार को सोनभद्र जिला अस्पताल के दो डॉक्टरों को गिरफ्तार किया। आरोपी डॉक्टर पुणेंदू शेखर सिंह और डॉ. दयाशंकर को एंटी करप्शन कोर्ट वाराणसी में पेश किया गया। डॉक्टरों के गिरफ्तारी की भनक लगते ही स्वास्थ्य महकमे में खलबली मच गई। एएसीएमओ डॉ. रामकुंवर समेत कई अधिकारी और कर्मचारी कोतवाली पहुंचे। 

पुलिस ने बताया कि 25 अगस्त 2022 को सदर कोतवाली में म्योरपुर एसओ रहे अश्वनी त्रिपाठी ने अज्ञात लोगों के खिलाफ रुपये लेकर फर्जी मेडिकल बनाने की तहरीर दी थी। तहरीर में लिखा है कि कुंडाडीह गांव निवासी सुरेंद्र कुमार और म्योरपुर निवासी अमित कुमार ने प्रार्थना पत्र देकर अवगत कराया कि जिला अस्पताल में रुपये लेकर फर्जी मेडिकल बनाया जा रहा है।

एसओ की तहरीर पर पुलिस ने धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार निवारण समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर विवेचना शुरू की। विवेचक सीओ राहुल पांडेय ने बताया कि पर्याप्त सबूत मिला कि जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर पुणेंदू शेखर सिंह और डॉ. दयाशंकर ने रुपये लेकर फर्जी मेडिकल प्रमाण पत्र बनाए थे।

उन्होंने बताया कि आरोपी डॉक्टर पुणेंदू को उनके आवास और डॉक्टर दयाशंकर को कोतवाली के पास से गिरफ्तार किया गया। दोनों आरोपियों को एंटी करप्शन कोर्ट वाराणसी में पेश किया गया। इधर, आरोपी डॉक्टरों का कहना है कि किसी का भी फर्जी मेडिकल नहीं बनाया है।

आँखों देखी