Connect with us

Hi, what are you looking for?

धर्म-समाज/राशिफल

जानिए क्या है ब्रह्म मुहूर्त, वैदिक या वैज्ञानिक?

ब्रह्म का मतलब परम तत्व या परमात्मा। मुहूर्त यानी अनुकूल समय।

रात्रि का अंतिम प्रहर अर्थात प्रात: 4 से 5.30 बजे का समय ब्रह्म मुहूर्त कहा गया है।
रात्रि के अंतिम चरण को ब्रह्म मुहूर्त कहते हैं। हमारे ऋषि मुनियों ने इस मुहूर्त का बड़ा विशेष महत्व बताया है।इसके पीछे एक बड़ा विज्ञानिक कारण छिपा है। उनके अनुसार यह समय निद्रा त्याग के लिए सर्वोत्तम है। ब्रह्म मुहूर्त में उठने से सौंदर्य, बल, विद्या, बुद्धि और स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है। सूर्योदय से चार घड़ी (लगभग डेढ़ घण्टे) पूर्व ब्रह्म मुहूर्त में ही जग जाना चाहिये। इस समय सोना शास्त्र निषिद्ध है।
ब्रह्ममुहूर्ते या निद्रा सा पुण्यक्षयकारिणी”।
(ब्रह्ममुहूर्त की निद्रा पुण्य का नाश करने वाली होती है।)

सिख धर्म में इस समय के लिए बेहद सुन्दर नाम है– “अमृत वेला”, जिसका नाम साबित करता है। यह समय अमृत के समान है। ईश्वर की आराधना के लिए यह सर्वश्रेष्ठ और अति उत्तम समय है। ब्रह्म मुहूर्त में उठने से मनुष्य को सौंदर्य, लक्ष्मी, बुद्धि, स्वास्थ्य आदि की प्राप्ति होती है। उसका मन शांत और तन पवित्र होता है।


शास्त्रों में भी इसका उल्लेख है–

वर्णं कीर्तिं मतिं लक्ष्मीं स्वास्थ्यमायुश्च विदन्ति।
ब्राह्मे मुहूर्ते संजाग्रच्छि वा पंकज यथा॥
अर्थात- ब्रह्म मुहूर्त में उठने से व्यक्ति को सुंदरता, लक्ष्मी, बुद्धि, स्वास्थ्य, आयु आदि की प्राप्ति होती है। ऐसा करने से शरीर कमल की तरह सुंदर हो जाता हे।

ब्रह्म मुहूर्त में उठना हमारे जीवन के लिए बहुत लाभकारी है। इससे हमारा शरीर स्वस्थ होता है और दिनभर स्फूर्ति बनी रहती है। स्वस्थ रहने और सफल होने का यह ऐसा फार्मूला है जिसमें खर्च कुछ नहीं होता। केवल आलस्य छोड़ने की आवश्यकता होती है।
ब्रह्म मुहूर्त और प्रकृति :-

ब्रह्म मुहूर्त और प्रकृति का गहरा नाता है। इस समय में पशु-पक्षी जाग जाते हैं। उनका मधुर कलरव शुरू हो जाता है। कमल का फूल भी खिल उठता है। एक तरह से प्रकृति भी ब्रह्म मुहूर्त में चैतन्य हो जाती है। वातावरण पूर्ण रूप से शुद्ध और सुगंधित हो जाता है। प्रकृति हमें संदेश देती है ब्रह्म मुहूर्त में उठो पर अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार करो।


आयुर्वेद के अनुसार ब्रह्म मुहूर्त में उठकर टहलने से शरीर में संजीवनी शक्ति का संचार होता है। यही कारण है कि इस समय बहने वाली वायु को अमृततुल्य कहा गया है। इसके अलावा यह समय अध्ययन के लिए भी सर्वोत्तम बताया गया है क्योंकि रात को आराम करने के बाद सुबह जब हम उठते हैं तो शरीर तथा मस्तिष्क में भी स्फूर्ति व ताजगी बनी रहती है। प्रमुख मंदिरों के पट भी ब्रह्म मुहूर्त में खोल दिए जाते हैं तथा भगवान का श्रृंगार व पूजन भी ब्रह्म मुहूर्त में किए जाने का विधान है।

वेदों में भी ब्रह्म मुहूर्त में उठने का महत्व और उससे होने वाले लाभ का उल्लेख किया गया है।

प्रातारत्नं प्रातरिष्वा दधाति तं चिकित्वा प्रतिगृह्यनिधत्तो।
तेन प्रजां वर्धयमान आयू रायस्पोषेण सचेत सुवीर:॥ – ऋग्वेद-1/125/1*


अर्थात- सुबह सूर्य उदय होने से पहले उठने वाले व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा रहता है। इसीलिए बुद्धिमान लोग इस समय को व्यर्थ नहीं गंवाते। सुबह जल्दी उठने वाला व्यक्ति स्वस्थ, सुखी, ताकतवाला और दीर्घायु होता है।
ब्रह्म मुहूर्त में उठने वाला व्यक्ति सफल, सुखी और समृद्ध होता है,क्योंकि जल्दी उठने से मस्तिष्क में ऊर्जा का संचार पूर्ण रहता है तथा दिनभर के कार्यों और योजनाओं को बनाने के लिए पर्याप्त समय भी मिल जाता हैं।


हमारे शास्त्रों वेदों पुराणों में जो भी वर्णन मिलता है वह आज की युग को चुनौती दे रहा है हमारे भारतवर्ष का वैदिक ज्ञान पूर्ण रूप से अग्रिम विज्ञान पर टिका है जहां तक पहुंचने में अभी देश विदेशों को शायद अभी हजारों साल लग जाए वह विज्ञान हमारे ऋषि-मुनियों ने लाखो हजारों वर्ष पहले लिख दिए थे। जिसका जीता जागता प्रमाण हमारे देश के ग्रंथ वेद पुराण में मौजूद है।


दैनिक जीवन में सबसे बड़ा प्रमाण है जैविक घड़ी पर आधारित शरीर की दिनचर्या :–

प्रातः 3 से 5 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से फेफड़ों में होती है। थोड़ा गुनगुना पानी पीकर खुली हवा में घूमना एवं प्राणायाम करना। इस समय दीर्घ श्वसन करने से फेफड़ों की कार्यक्षमता खूब विकसित होती है।शरीर स्वस्थ व स्फूर्तिमान होता है। ब्रह्म मुहूर्त में उठने वाले लोग बुद्धिमान व उत्साही होते है।

प्रातः 5 से 7 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से आंत में होती है। प्रातः जागरण से लेकर सुबह 7 बजे के बीच मल-त्याग एवं स्नान का लेना चाहिए । अन्यथा सुबह 7 के बाद जो मल-त्याग करते है तो इससे कब्ज तथा कई अन्य रोग उत्पन्न होते हैं।

प्रातः 7 से 9 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से आमाशय में होती है। यह समय भोजन के लिए उपर्युक्त है । इस समय पाचक रस अधिक बनते हैं। भोजन के बीच-बीच में गुनगुना पानी घूँट-घूँट पिये।

प्रातः 11 से 1 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से हृदय में होती है।

दोपहर 12 बजे के आस–पास मध्याह्न –
संध्या (आराम) करने की हमारी संस्कृति में विधान है। इसी लिए भोजन वर्जित है । इस समय तरल पदार्थ ले सकते है। जैसे मट्ठा पी सकते है। दही खा सकते है ।

दोपहर 1 से 3 —
इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से छोटी आंत में होती है। इसका कार्य आहार से मिले पोषक तत्त्वों का अवशोषण व व्यर्थ पदार्थों को बड़ी आँत की ओर धकेलना है। भोजन के बाद प्यास अनुरूप पानी पीना चाहिए । इस समय भोजन करने अथवा सोने से पोषक आहार-रस के शोषण में अवरोध उत्पन्न होता है व शरीर रोगी तथा दुर्बल हो जाता है ।

दोपहर 3 से 5 — इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से मूत्राशय में होती है । 2-4 घंटे पहले पिये पानी से इस समय मूत्र-त्याग की प्रवृति होती है।

शाम 5 से 7 — इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से गुर्दे में होती है । इस समय हल्का भोजन कर लेना चाहिए । शाम को सूर्यास्त से 40 मिनट पहले भोजन कर लेना उत्तम होता है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

रात्री 7 से 9 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से मस्तिष्क में होती है । इस समय मस्तिष्क विशेष रूप से सक्रिय रहता है । अतः प्रातःकाल के अलावा इस काल में पढ़ा हुआ पाठ जल्दी याद रह जाता है । आधुनिक अन्वेषण से भी इसकी पुष्टी हुई है।

रात्री 9 से 11 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से रीढ़ की हड्डी में स्थित मेरुरज्जु में होती है। इस समय पीठ के बल या बायीं करवट लेकर विश्राम करने से मेरूरज्जु को प्राप्त शक्ति को ग्रहण करने में मदद मिलती है। इस समय की नींद सर्वाधिक विश्रांति प्रदान करती है । इस समय का जागरण शरीर व बुद्धि को थका देता है।इस समय भोजन करना भी खतरनाक होता है।

रात्री 11 से 1 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से पित्ताशय में होती है । इस समय का जागरण पित्त-विकार, अनिद्रा , नेत्ररोग उत्पन्न करता है व बुढ़ापा जल्दी लाता है । इस समय नई कोशिकाएं बनती है।

रात्री 1 से 3 इस समय जीवनी-शक्ति विशेष रूप से यकृत में होती है । अन्न का सूक्ष्म पाचन करना यह यकृत का कार्य है। इस समय का जागरण यकृत (लीवर) व पाचन-तंत्र को बिगाड़ देता है । इस समय यदि जागते रहे तो शरीर नींद के वशीभूत होने लगता है, दृष्टि मंद होती है और शरीर की प्रतिक्रियाएं मंद होती हैं। अतः इस समय सड़क दुर्घटनाएँ अधिक होती हैं।

ऋषियों व आयुर्वेदाचार्यों ने बिना भूख लगे भोजन करना वर्जित बताया है। अतः प्रातः एवं शाम के भोजन की मात्रा ऐसी रखे, जिससे ऊपर बताए भोजन के समय में खुलकर भूख लगे। जमीन पर कुछ बिछाकर सुखासन में बैठकर ही भोजन करें। इस आसन में मूलाधार चक्र सक्रिय होने से जठराग्नि प्रदीप्त रहती है। कुर्सी पर बैठकर भोजन करने में पाचनशक्ति कमजोर तथा खड़े होकर भोजन करने से तो बिल्कुल नहींवत् हो जाती है।

पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र का लाभ लेने हेतु सिर पूर्व या दक्षिण दिशा में करके ही सोयें, अन्यथा अनिद्रा जैसी तकलीफें होती हैं।

शरीर की जैविक घड़ी को ठीक ढंग से चलाने हेतु रात्रि को बत्ती बंद करके सोयें। इस संदर्भ में हुए शोध चौंकाने वाले हैं। देर रात तक कार्य या अध्ययन करने से और बत्ती चालू रख के सोने से जैविक घड़ी निष्क्रिय होकर भयंकर स्वास्थ्य-संबंधी हानियाँ होती हैं। अँधेरे में सोने से यह जैविक घड़ी ठीक ढंग से चलती है।

आजकल पाये जाने वाले अधिकांश रोगों का कारण अस्त-व्यस्त दिनचर्या व विपरीत आहार- विहार ही है। हम अपनी दिनचर्या शरीर की जैविक घड़ी के अनुरूप बनाये रखें।
और हमेशा मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहे।।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement

Update news...

उत्तर प्रदेश

यूपी के कुशीनगर में मास्क चैकिंग के दौरान एक युवक को टोकना दरोगा का भारी पड़ गया। चेकिंग के दौरान पुलिस ने जब युवक...

उत्तर प्रदेश

UP: योगी सरकार ने नौकरीपेशा लोगों को बड़ी राहत देते हुए निजी-सरकारी कंपनियों को कोरोना पीड़ित कर्मचारियों को 28 दिन की पेड लीव देने...

देश-दुनिया

Nashik Oxygen Leak Live Updates: जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीन टैंक लीक हाने से अब तक 22 मरीजों की मौत हो गई है. जबकि...

राज्य/ states

अमेकिरा के विदेश विभाग ने कहा है कि भारत में बढ़ते काेरोना संक्रमण को लेकर हम चिंतित है और हर रोज की स्थिति पर...

राज्य/ states

Corona positivity rate in india: भारत में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 15 फीसदी तक पहुंच चुका है। यानि अगर 100 लोगों का टेस्ट किया जा...

देश-दुनिया

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के महासचिव सीताराम येचुरी के बड़े बेटे आशीष येचुरी का आज सुबह COVID-19 के कारण निधन हो गया।

देश-दुनिया

Coronavirus In India- सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए मोदी सरकार को नोटिस जारी किया है। जिसके माध्यम से...

उत्तराखंड

पतंजलि योगपीठ में 83 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. रिपोर्ट सामने आने के बाद सभी संक्रमितों को होम आइसोलेट कर दिया गया है.

दिल्ली

दिल्ली के दरियागंज इलाके में बीते रविवार को वीकेंड कर्फ्यू के दौरान एक पति-पत्नी बिना मास्क लगाए अपनी कार से जा रहे थे।

मोबाइल-टेक

सोशल मीडिया प्लेटफार्मों, फेसबुक और व्हाट्सएप [Facebook and WhatsApp] द्वारा याचिका को खारिज कर दिया, भारत के प्रतिस्पर्धा नियामक सीसीआई [ India's competition regulator...

मध्यप्रदेश

परिजनों ने की बचाने की भरसक कोशिश, पर नीचे खड़े लोग वीडियो बनाते रहे।

क्राइम

UttarPradesh:  बुलंदशहर के छपरावत में बुधवार को ग्राम प्रधान के उम्मीदवार द्वारा बांटी गई शराब पीने से गांव के दो युवकों की मौत हो...

देश-दुनिया

वित्त मंत्री ने ये भी कहा है कि सरकार प्रति माह 36 लाख से लेकर 78 लाख रेमेडिसविर इंजेक्शन [Remedisavir Injection] की क्षमता बढ़ाने...

क्राइम

(सलीम फारूकी) शामली/ कांधला: दहेज की खातिर कलयुगी ससुरालियों ने विवाहिता की हत्या कर दी, महिला के परिजनों ने पति सहित ससुराल पक्ष के...

दुनिया

George Floyd:- संयुक्त राज्य अमेरिका में पुलिस की जवाबदेही के एक निर्णायक परीक्षण के रूप में देखे गए नस्लीय आरोप के बाद अफ्रीकी-अमेरिकी (African-American)...

देश-दुनिया

Remdesivir, RT-PCR :- जब से भारत COVID-19 की दूसरी लहर (second wave) से लड़ रहा है। तभी से Google और तृतीय-पक्ष सोशल मीडिया एनालिटिक्स...

देश-दुनिया

जर्मनी के ग्रीन्स के लिए पहली बार चांसलर-उम्मीदवार के रूप में एनालेना बेर्बॉक का अभिषेक सितंबर के आम चुनाव में एक राजनीतिक दृश्य को...

दुनिया

Earth Day:- हर साल 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जाता है, और धरती माता को समर्पित किया जाता है। पृथ्वी दिवस 2021 की...

देश-दुनिया

देश के ड्रग रेगुलेटर से हरी झंडी मिलते ही निजी संगठन भी बिना किसी प्रतिबंध के सीधे तौर पर मॉडर्न या फाइजर वैक्सीन का...

क्रिकेट

Cadiz Vs Real Madrid:- करीम बेंजेमा (Karim Benzema) के पहले हाफ डबल ने रियल मैड्रिड क्रूज (Real Madrid cruise) को बुधवार को काडीज़ (Cadiz)...

क्रिकेट

मेजबान जिम्बाब्वे ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का विकल्प चुना है।

राज्य/ states

नई गाइडलाइन के अनुसार अब निजी तौर पर कोई भी ऑक्सीजन का सिलेंडर नहीं खरीद पाएगा। ऑक्सीजन की किल्लत को दूर करने के लिए...

क्रिकेट

Aston Villa Vs Man City:- मैनचेस्टर सिटी प्रीमियर लीग (Premier League) जीतने के बाद अब एस्टन विला को 2-1 (Aston Villa 2-1)से हराने के...

क्राइम

सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घर के आंगन में हरपाल नाम के व्यक्ति की लाश पड़ी हुई देखी। उसका सिर धड़ से...

क्राइम

नोएडा. नोएडा के सेक्टर 121 में स्थित ओयो होटल [ Oyo Hotel ] की पांचवी मंजिल से कूदकर एक छात्रा ने आत्महत्या [suside] कर...

मनोरंजन

वे दिवालिया होने की कगार पर थे। एक के बाद एक फिल्में फ्लॉप हो रही थीं। ABCL नाम से शुरू की गई कंपनी ने...

देश-दुनिया

World news: चीन के शिंजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों में इस कदर खौफ है कि लगातार 3 साल तक पाबंदी के बाद जब इस...

देश-दुनिया

कोरोना महामारी के बड़े संकट के बीच महाराष्ट्र के अस्पतालों में लगातार बड़े हादसे हो रहे हैं. 2 दिन पहले जहां नासिक के जाकिर...

देश-दुनिया

अमीरात और फ्लाई दुबई ने ट्रैवल एजेंसियों को इस बारे में सूचित किया है। यह निर्णय भारत में बढ़ते कोविड मामलों को लेकर लिया...

उत्तर प्रदेश

क्षमता से अधिक संख्या में पहुंच रहे लगातार शव, डीएम व कमिश्नर को कराया स्थिति से अवगत, 6 नए चबूतरे बनाये जा रहे

Advertisement