Muzaffarpur Shelter home Sexual Assault Case, Bhakshak: बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम पर अपकमिंग फिल्म ‘भक्षक’ का टीजर शेयर किया। टीजर देखकर हर कोई हैरान है और इस कहानी को जानने के लिए बेताब है।

इस टीजर वीडियो को साझा करते हुए भूमि ने अपने कैप्शन में लिखा है कि ये सच्ची घटना पर आधारित है। टीजर देखकर लग रहा है कि इस फिल्म की कहानी बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण की घटना पर आधारित है।

क्या है मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण केस?

बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर यौन शोषण केस के बारे में कौन नहीं जानता है। दरअसल, साल 2018 में कथित तौर पर बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह में यौन शोषण और दुष्कर्म का मामला सामने आया था। एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) की ओर इस लड़कियों के साथ हो रहे शोषण का सनसनीखेज मामला सामने आया, जिसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया।

इंसानियत भी हुई शर्मसार

ये एक ऐसा मामला था, जो शर्मनाक होने के साथ-साथ इंसानियत को भी झकझोर कर रख देता है। बिहार के बालिका गृह में ना सिर्फ लड़कियों से दुष्कर्म बल्कि उनके साथ बहुत बुरा बर्ताव किया गया। इतना ही नहीं बल्कि इस शेल्टर होम का एक कमरा ऐसा भी था, जो ऑपरेशन थिएटर जैसा लगता था। इसमें जब कोई लड़की प्रेग्नेंट हो जाती थी, तो जबरदस्ती उसका एबॉर्शन किया जाता था। साथ ही ये शेल्टर होम एक वेश्यालय की तरह से काम करता था।

नशीली दवाइयों देकर लड़कियों के साथ होती थी जबरदस्ती

इसके अलावा इस शेल्टर होम से 67 तरह की दवाइयां भी बरामद की गई। कई तरह की नशीली दवाइयों के साथ-साथ वहां ड्रग्स जैसी चीजें भी मौजूद थी, जो लड़कियों को जबरदस्ती दी जाती थी और फिर उनका रेप किया जाता था। इस शेल्टर होम की पीड़िताओं ने बात करते हुए बताया कि यहां कई तरह के लोग आते हैं, जिनमें तोंद वाले नेता, मूछों वाले चाचा और हंटर वाले अंकल होते थे। ये लोग जबरन लड़कियों के साथ जो मन आए करते थे। हालांकि लड़कियों ने जिन लोगों के बारे में बात की उनकी पहचान नहीं हुई।

पुरुष तो पुरुष महिलाओं ने भी नहीं बक्शा

इसके आगे पीड़िताओं ने बताया था कि उन्हें रात में नग्न होकर सोने के लिए मजबूर किया जाता था। साथ ही शेल्टर होम की महिला कर्मचारी भी उनका यौन शोषण करती थीं। जब कोई उनका विरोध करता था तो उन्हें बुरी तरह से पीटा जाता था और उनके प्राइवेट प्रार्ट्स पर लात मारी जाती थी। इस तरह की घिनौनी हरकत करना किसी भी इंसान को शोभा नहीं देता है।

निवेदिता झा नाम की पत्रकार ने उठाई आवाज

इस मामले पर निवेदिता झा नाम की एक पत्रकार ने आवाज उठाई और महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचार पर केस दर्ज कराया। मामला कोर्ट में पहुंचा और इस पर सुनवाई हुई और मामले में कई लोगों को आरोपी पाया गया, जिन्हें सजा हुई। वहीं, अब इस घटना पर आधारित ‘भक्षक’ नाम की फिल्म आ रही है, जिसमें दिखाया जाएगा कि कैसे एक पत्रकार ने अन्नयाय के खिलाफ आवाज उठाई। ये फिल्म 9 फरवरी को नेटफ्लिक्स पर रिलीज की जाएगी।

आँखों देखी