मेरठ: ATM मशीन खराब करने के लिए रात में हेलमेंट पहनकर निकलता है यह शातिर

पेचकस मारकर एटीएम का शटर तोड़ते हुआ आरोपी

मेरठ। जब आप ATM से पैसे निकालने के लिए जाते हैं तो अकसर आपने देखा होगा कि ज्यादातर मशीने खराब मिलती है। मशीन खराब होने पर हम फ्रेंचाइजी या बैंक को दोषी ठहराते हैं। लेकिन अब सच्चाई सामने आयी है कि इसके लिए फ्रेंचाइजी या बैंक दोषी नही है बल्कि एक शातिर शख्स जिम्मेदार है। जो रात में हेलमेंट पहनकर निकलता है और जानबूझकर ATM मशीनो काे खराब करता है।

यह शातिर पेचकस मारकर एटीएम मशीन खराब करता है और फरार हो जाता है। लेकिन अब यह तीसरी आंख के लपेटे में आ ही गया। पेंचकश से एटीएम मशीनों को कबाड़ करने में माहिर आरोपी की करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद होने के बाद एटीएम मशीन का संचालन करने वाली एजेंसी सक्रिय हो गई है। वहीं मेरठ पुलिस ने भी अब इस पेंचकशमार की तलाश शुरू कर दी है।

ऐसे हुआ खुलासा

दरअसल भावनपुर थाना क्षेत्र के सराय चौराहे के आस-पास इंडिया-वन का एटीएम लगा हुआ है। भोपाल विहार के अजय हॉस्पिलट के पास लगे इस एटीएम मशीन में पिछले काफी समय से गड़बड़ी की शिकायत मिल रही थी। दिन में ठीक चलने वाली मशीन रात में खराब हो जाती थी। जिसको लेकर एटीएम मशीन संचालक एवं संबंधित कंपनी बेहद परेशान थी। वहीं सीसीटीवी कैमरे में भी कुछ नजर नही आता था।  शक होने पर ऐजेंसी संचालक एटीएम के अंदर एक और गुप्त कैमरा लगा दिया। इस कैमरे को चैक किया गया तो हैरान करने वाली वीडियो सामने आयी।

25 दिसंबर की रात करीब पौने नो बजे हेलमेट पहनकर एक व्यक्ति एटीएम मशीन पर आता है। वो जेब से  पेचकस  निकालकर मशीन के अंदर घुसेड़ देता है और सेकेंड भर में एटीएम मशीन को खराब करके चला जाता है। इस हेलमेट वाले  ‘पेचकस मार’  का वीडियो वहां लगे गुप्त कैमरे में कैद हो जाता है।

बहुत दिनों से थी तलाश

ये  ‘पेचकस मार’ इतना शातिर है कि पिछले कई सालों से ये इलाके के एटीएम मशीनों को निशाना बनाता आ रहा है, लेकिन मजाल है जो इसे कोई पकड़ सके। इसके शातिरपन का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सीसीटीवी कैमरों से लैश एटीएम मशीनों को ये चंद सेकेंड में कबाड़ बना देता है, लेकिन आज तलक ये पकड़ में नहीं आ सका। पकड़ तो दूर की बात है, कभी सीसीटीवी कैमरे की नजर में भी नहीं आया। इंडिया-वन कंपनी ने लगातार हो रही मशीनों में गड़बड़ी के बाद मेरठ के गढ़ रोड पर स्थित इस एटीएम मशीन में एक गुप्त कैमरा लगाया था, जिसकी  ‘पेचकस मार’ को भनक नहीं लगी और उसकी करतूत इस कैमरे में कैद हो गई।

बंद हो चुके हैं कई एटीएम

इस पेचकस मार की करतूतों की वजह से इलाके के कई एटीएम बंद हो चुके हैं। एटीएम मशीन संचालक अमित तोमर ने बताया कि जिन एटीएम मशीनों को अब टारगेट किया गया है, पहले वहां पर एक्सिस समेत अन्य बैंकों के दो एटीएम लगे हुए थे, लेकिन उन्हें भी इसी तरह से लगातार निशाना बनाया गया। कभी ग्लू का इस्तेमाल करके मशीनों से छेड़खानी की गई तो कभी नुकीले औजार से मशीन में गड़बड़ी कर खराब कर दिया गया। जिस कारण बैंकों ने परेशान होकर इस इलाके से अपने एटीएम ही हटा लिए।

हर तीसरे-चौथे दिन एटीएम मशीन को इसी तरह से खराब किया जा रहा था। कंपनी ने परेशान होकर एटीएम मशीन हटाने का निर्णय लिया तो हमने हेड ऑफिस में शिकायत कीजहां से ये सीसीटीवी फुटेज निकलकर सामने आया है। हम इस संबंध में पुलिस से लिखित में शिकायत कर रहे हैं।‘ कपिल गुप्ताफ्रेंचाइजी पार्टनरइंडिया-वन एटीएम