Meerut: नगर पंचायत की लापरवाही से चार वर्षीय बच्ची की नाले में डूबने से हुई मौत

मृतक मासूम बच्ची

मेरठ। जानी क्षेत्र के कस्बा सिवाल खास में नगर पंचायत की लापरवाही से एक मासूम बच्ची की मौत हो गईं। कस्बावासियों का कहना है कि पिछले काफी दिनों से नाले खुले पड़े है। कई बार शिकायत करने के बाद भी नालों पर स्लेप नही डाला गया। इससे पहले भी कई बच्चे नाले में गिर चुके है,जिन्हें समय रहते निकाल लिया गया।

यह भी पढ़ें- मीट व्यापारियों ने इंस्पेक्टर पर लगाया रिश्वत का आरोप, एसएसपी से की शिकायत

गौरतलब है कि जानी क्षेत्र के कस्बा सिवाल खास में लौहड्डा मार्ग पर जल निकासी के लिए नाले का निर्माण हुआ था, लेकिन उसे ढका नही गया।सोमवार रात कस्बा निवासी दिलशाद की चार वर्षीय पुत्री अमरीन घर के बाहर खेल रही थी। अचानक वह खुले हुए नाले में गिर गई और किसी को पता नही चला।

यह भी पढ़ें- मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेसवे पर तेंदुए की सड़क दुर्घटना में मौत

काफी देर तक जब वह नही मिली तो आसपास में तलाश किया गया, लेकिन कुछ पता नही चला। देर रात लाइट की रोशनी नाले में पड़ी मासूम के पैरों पर गिरी तो उसे निकाला गया। जब तक मासूम दम तोड़ चुकी थी। कस्बा निवासी पूर्व सभासद एंव बसपा नेता दीन मोहम्मद का कहना है कि इससे पहले भी एक बच्चा नाले में गिरकर मौत के मुंह में जा चुका है और कई बच्चे हादसे का शिकार होने से बचे है।

कस्बावासियों का आरोप है कि कई बार नगर पंचायत से लेकर उच्च अधिकारियों तंक गुहार लगाई जा चुकी है,लेकिन नाले पर आज तक स्लेप नही डाले गए है। इसी कारण लगातार हादसे होते रहते