Connect with us

क्राइम

मेरठ: रछौती गांव में प्रधान पति की गोली मारकर हत्या, एक अन्य घायल, गांव में तनाव

Published

on

संवाददाता: अजय पाल सिंह

रछौती ग्राम प्रधान पति विजय उर्फ रावत

उत्तर प्रदेश: मेरठ जिले के मुंडाली थाना क्षेत्र के रछौती ग्राम प्रधान पति विजय उर्फ रावत की बुधवार देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं मृतक का भांजा भी गोली लगने से घायल हुआ है। परिजनों की तरफ से पूर्व प्रधान पर हत्या का आरोप लगाया गया है। बताया गया कि इसी चुनावी रंजिश के चलते विजय के पिता की भी 29 साल पहले हत्या की गई थी। घटना की सूचना पर एसपी देहात कमलेश बहादुर भी मेडिकल कालेज  पहुंचे और घटना की जानकारी ली। प्रधान पति की हत्या से गांव में तनाव व्याप्त है जिसके चलते पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। पुलिस ने दो आरोपियों की हिरासत में लिया है।

जानकारी के अनुसार, मुंडाली थाना क्षेत्र के रछौती डेरियो गांव में चुनावी रंजिश चली आ रही है। ग्राम प्रधान के चुनाव में राजकुमार की पत्नी मुनेश देवी ग्राम प्रधान विजयीं हुईं और विजय उर्फ रावत पराजित हुआ था। कुछ समय पश्चात ही बीमारी के चलते मुनेश देवी की मौत होने से प्रधान पद रिक्त हो गया। जिसके बाद उपचुनाव में विजय की पत्नी प्रियंका और मुनेश देवी के पुत्र की पत्नी संगीता ने चुनाव लडा। जिसमे प्रियंका ने चुनाव जीत लिया।

जिसके बाद से दोनो परिवारों में चुनावी रंजिश चली आ रही थी। परिजनों के मुताबिक बुधवार देर शाम ग्राम प्रधान प्रियंका का पति विजय उर्फ रावत (30) अपने भांजे ओम के साथ दुकान पर गया था। रास्ते में राजकुमार के बेटे मोहित, शिवम नागर पुत्र महाराज सिंह और शिवम पुत्र सुभाष ने विजय को घेरकर गोलियां बरसा दी। एक गोली विजय के सीने और ओम के हाथ में लगी। लहूलुहान हालत में दोनों को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने विजय उर्फ रावत को मृत घोषित कर दिया। मृतक के चाचा बलजोरा ने बताया कि विजय की पत्नी प्रियंका प्रधान की तरफ से तहरीर दी गई है।

बताया गया कि रछौती गांव में विजय उर्फ रावत के परिवार में पांचवीं बार प्रधानी आई है। जिस कारण बहुत से लोग उनसे रंजिश रखते हैं। 29 साल पहले  विजय के पिता सच्चे सिंह प्रधान की हत्या हुई थी। उनकी मृत्यु के पश्चात उनके छोटे भाई की पत्नी मनबीरी को ग्राम प्रधान बनी। उसके बाद छोटा भाई बालजोरा प्रधान बने। उसके पश्चात चमन सिंह प्रधान बने। अब वर्तमान में उपचुनाव में प्रियंका पत्नी विजय उर्फ रावत ग्राम प्रधान हैं। मृतक विजय खेतीबाड़ी के अलावा हसनपुर कलां में जिम चलाते थे। उनके दो बेटियां और छह माह का एक बेटा है।

एसपी कमलेश बहादुर ने बताया कि हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए दो टीमें लगाई गई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। गांव में तनाव के मद्देनजर पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।







क्राइम

UP: अमरोहा में महिला की निर्मम हत्या, शव को कई टुकड़ों में काटकर थैलों में भरकर फेंका

Published

on

उत्तर प्रदेश: अमरोहा जिले के नौगांवा सादात थाना इलाके के धनौरा बाईपास मार्ग पर एक महिला के शरीर के निर्मम टुकड़े कर थैलों में भरकर जंगल में फेंका है। महिला के शव के साथ इतनी बर्बरता की गई कि उसको शब्दों में बयान नही किया जा सकता। महिला का सिर, एक हाथ, टांग और गुप्तांगों को शरीर से अलग कर करके लगभग 20 टुकड़ों को थैलों में पैक करने बाद जंगल में फेंका हैं। महिला के शव मिलने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शिनाख्त का प्रयास किया लेकिन काफी प्रयास के बाद भी शव की पहचान नहीं हो सकी। फॉरेंसिक टीम ने मौके पर सबूत जुटाए हैं। पुलिस ने टुकड़ों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस पर मोर्चरी में रखवा दिया है।

जानकारी के अनुसार, नौगांवा सादात थाना इलाके के याहियापुर चौराहे से दो सौ मीटर दूर जंगल में मंगलवार की सुबह लोग खेतों के लिए निकले तो उन्होंने यूकेलिप्टस के पेड़ों के नीचे झाड़ियों में कुछ थैलियां पड़ी हुई देखीं। आसपास पक्षी मंडराने से लोगो को शंका हुई तो तुरंत ही इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर थाना अध्यक्ष पंकज तोमर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और थैलों को खोला तो उनके होश उड़ गए। थैलों में ऊपर कपड़े भरे थे और कपड़ों के नीचे युवती के शव के टुकड़े पड़े थे।

एक थैले में युवती के सिर से कमर तक का हिस्सा था। जिसे देखकर पता चला कि युवती प्रेग्नेंट थी। जबकि दूसरे थैले में कमर से नीचे तक शरीर के हिस्से थे। मृतक महिला की उम्र लगभग 25 वर्ष के आसपास मानी जा रही है। महिला की निर्मम हत्या देखकर लोगों के होश उड़ गए अंदाजा लगाया जा रहा है कि महिला की हत्या कहीं दूसरे स्थान पर करने के बाद यहां जंगल में फेंका है। महिला ने सलवार और कुर्ता पहन रखा था। एसपी कुंवर अनुपम सिंह के निर्देश पर फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंच गई। टीम ने घटनास्थल पर जांच पड़ताल की। 

इस मामले में सीओ अंजलि कटारिया का कहना है कि युवती के 20 टुकड़े कर शव दो थैलों में सड़क किनारे फेंका गया है। फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है। फिलहाल युवती की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस द्वारा आसपास के इलाके के अलावा सभी थानों में गुमशुदगी सहित सभी तरीकों से जांच कर रही है। जल्द ही युवती की पहचान कर ली जाएगी।

Continue Reading

क्राइम

सहारनपुर: अवैध संबंधों के शक में पत्नी की ATM के अंदर गोली मारकर हत्या, भाई को भी मारी गोली

Published

on

संवाददाता: सलीम फारूकी


उत्तर प्रदेश: सहारनपुर जिले के रायवाला प्रताप नगर स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम में आज एक महिला को उसके ही पति ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। पत्नी की हत्या करने के बाद आरोपित अपने घर पहुंचा और उसने अपने सगे भाई को भी गर्दन में गोली मार दी। भाई को जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया है। वारदात के कारण दोनो में अवैध संबंध का शक होना बताया जा रहा है। पुलिस आरोपित की तलाश में है।

जानकारी के अनुसार, सहारनपुर के थाना मण्डी क्षेत्र के मोहल्ला सराय महंदी निवासी 30 वर्षीय जफरा परवीन की करीब सात साल पहले देहात कोतवाली क्षेत्र की वर्धमान कॉलोनी निवासी जीशान से शादी हुई थी। पिछले करीब एक महीने से जीशान और जाफरा के बीच अनबन चल रही थी। दरअसल जीशान को शक था कि उसकी पत्नी जफरा का उसी के भाई से अवैध संबंध है और इसी कारण आए दिन दोनों पति-पत्नी में झगड़ा हो रहा था जिस कारण वह अपने मायके सराय मेहंदी में पिता के साथ रह रही थी।

आज मंगलवार जीशान अपनी ससुराल मेहंदी सराय में आया और पत्नी को एटीएम से पैसे निकालने के लिए रायवाला मार्केट स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम पर ले गया। जिस समय पत्नी एटीएम से पैसे निकल रही थी उसी समय जीशान ने पीछे से पत्नी के सिर में गोली मार कर हत्या कर दी। इसके बाद जीशान देहात कोतवाली क्षेत्र की वर्धमान कॉलोनी में पहुंचा और घर पर मौजूद अपने सगे भाई रिहान सिद्धकी पुत्र इसरार की भी गर्दन में गोली मार दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा, जबकि रिहान सिद्दीकी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिला अस्पताल में प्रथम उपचार देने के बाद रिहान सिद्धकी को हायर सेंटर रेफर कर दिया। परिजनों का कहना है कि पति और पत्नी का पिछले कुछ समय से विवाद चल रहा था। जीशान को अपनी पर शक था कि उसके उसी के भाई रिहान से अवैध सम्बंध है 

एसपी सिटी अभिमन्यु मांगलिक ने बताया कि हत्या को सोच समझ कर अंजाम दिया गया है सम्भवतः अवैध सम्बंध का शक था जिस कारण घटना को अंजाम दिया गया। हालांकि अभी सही कारण का पता नहीं चला है। पुलिस जीशान की तलाश में है। उसकी लगातार लोकेशन ली जा रही है।

Continue Reading

pakistan

पाकिस्तान में महिला के साथ भीड़ ने की शर्मनाक हरकत, कुर्ता देखते ही मचा बवाल

Published

on

पाकिस्तान समाचार: पाकिस्तान में लोकतंत्र पहले से ही टूट रहा है। यहां आम आदमी के अधिकारों की बात करना बेमानी है. समाज में पहनावे और बोलने तथा अभिव्यक्ति की आजादी पर भी स्थिति खराब है। ड्रेस से जुड़ा एक ऐसा मामला सामने आया है। इसमें एक महिला को भीड़ के गुस्से का सामना करना पड़ा. ये घटना लाहौर की है.

जानकारी के मुताबिक लाहौर में एक महिला को ड्रेस पहनना भारी पड़ गया. उस महिला ने सोचा भी नहीं होगा कि उसे अपने पहनावे की वजह से पुलिस स्टेशन जाना पड़ेगा. दरअसल, शॉपिंग करने निकली एक महिला मॉब लिंचिंग का शिकार हो गई. अरबी प्रिंटेड ड्रेस पहनने पर वहां मौजूद लोगों ने उन्हें घेर लिया.

जानिए क्या है पूरा मामला?

यहां बैठी एक महिला को भीड़ ने घेर लिया और जान से मारने की कोशिश भी की. ये महिला लाहौर के अचरा बाजार स्थित एक होटल में खाना खाने आई थी. उस महिला की पोशाक पर अरबी भाषा में प्रिंट था. वहां मौजूद कुछ लोगों ने इसे कुरान की आयत बताया और ईशनिंदा का आरोप लगाया.

फिर क्या था, देखते ही देखते वहां भीड़ जमा हो गई. महिला को चारों तरफ से घेर लिया गया, जिससे वह डर गयी. लोगों ने महिला पर अपमान करने का आरोप लगाया. गनीमत रही कि इलाके की पुलिस अधिकारी एएसपी सैयदा शहरबानो नकवी समय पर वहां पहुंच गईं और महिला को भीड़ से निकालकर थाने ले आईं. इससे कोई भी अप्रिय घटना घटित होने से बच गई।

कोई गलती नहीं, फिर भी माफी मांगी

हालांकि, गलती न होने के बावजूद महिला ने घटना के लिए माफी मांगी। ऑनलाइन शेयर किए गए वीडियो में महिला को यह कहते हुए सुना गया, ‘मुझे कुर्ता पसंद आया इसलिए मैंने इसे खरीद लिया। सोचा नहीं था लोग ऐसा सोचेंगे.

पंजाब पुलिस ने की महिला पुलिस अधिकारी की तारीफ

इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस साहसी कार्य के लिए पंजाब पुलिस ने घटना का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट करते हुए महिला को वीरता पुरस्कार के लिए सिफारिश की है.

‘भीड़ ने महिला से कुर्ता उतारने को कहा’

इस बीच घटना के बारे में बात करते हुए महिला पुलिस अधिकारी ने एक अन्य वीडियो में कहा, ‘महिला अपने पति के साथ शॉपिंग के लिए गई थी. उन्होंने कुर्ता पहना हुआ था जिस पर कुछ शब्द लिखे हुए थे. जब कुछ लोगों ने देखा तो अरबी भाषा में लिखे प्रिंट की वजह से उनसे कुर्ता उतारने को कहा। इससे असमंजस की स्थिति पैदा हो गई.

मॉब लिंचिंग देश को निगल रही है

एक शख्स ने वीडियो शेयर करते हुए कहा, ‘लाहौर में एक और ड्रामा. महिला लोगों से घिरी हुई थी क्योंकि उसके रिस्टबैंड पर अरबी में नाम लिखे हुए थे, कुछ लोग कुरान की आयतें भी लिख रहे थे। दरअसल, ऐसा नहीं है. ये केवल साधारण अरबी शब्द हैं जो धर्म के बारे में नहीं हैं। इस पर जो भी लिखा है उसका मतलब खूबसूरत है. यह एक अरबी शब्द है. देशभर में धार्मिक कार्डों का चलन बढ़ता जा रहा है। मॉब लिंचिंग देश को निगल रही है. सवाल ये है कि ऐसी चीजों को बढ़ावा कौन दे रहा है.

महिला ने माफ़ी मांगी

हालांकि, गलती न होने के बावजूद महिला ने घटना के लिए माफी मांगी। ऑनलाइन शेयर किए गए वीडियो में महिला को यह कहते हुए सुना गया, ‘मुझे कुर्ता पसंद आया इसलिए मैंने इसे खरीद लिया। सोचा नहीं था लोग ऐसा सोचेंगे. मेरा कुरान का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था. मैं इस घटना के लिए माफी चाहता हूं.

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.