Meerut: प्रेम विवाह के खिलाफ ठाकुरों की पंचायत‚ BJP के पूर्व विधायक बोले गांव की लड़की नही बन सकती है बहू

66
संगीत सोम

मेरठ: यूपी के मेरठ में एक ही गोत्र के प्रेमी युगल को शादी करना महंगा पड़ता दिखाई दे रहा है। इस शादी के खिलाफ पूरी ठाकुर बिरादरी एक हो गई है और लड़के पक्ष को पांच में लड़की को सकुशल वापस घर भेजने की मोहलत दी है। पंचायत में पूर्व बीजेपी विधायक ठाकुर संगीत सोम ने कहा है कि हम कुंवारे रह सकते है, लेकिन ऐसी बहु नहीं रख सकते हैं जो उसी गांव की बेटी हो। संगीत सोम ने कहा कि जिस तरह का मामला गांव में सामने आया है हम वो नही देख सकते हैं. समाज में ये किसी तरह से स्वीकार्य नहीं।

क्या है पूरा मामला 
दरअसल मेरठ के सरूरपुर क्षेत्र के गांव गोटका के आस-पड़ोस के रहने वाले एक प्रेमी जोड़ी ने प्रेम विवाह कर लिया. मई में दोनों ने जाकर सदर बाजार स्थित मंदिर में शादी की. इसके बाद 12 सितंबर को रजिस्टर्ड भी करा लिया. कुछ दिन पहले उन्होंने मेरठ के एसएसपी को अपनी सुरक्षा के लिए एक प्रार्थना पत्र भी दिया. इसके बाद यह बात गांव में आग की तरह फैल गई. दोनों ही लड़का लड़की एक ही गोत्र के हैं और ठाकुर बिरादरी से ताल्लुक रखते हैं. एक ही गोत्र में विवाह करने पर गांव में विरोध होने लगा. 

इसको लेकर गांव में रविवार को एक ठाकुरों की महापंचायत भी हुई. पंचायत में सहगोत्री विवाह का हर हाल में विरोध करने का निर्णय लिया गया. पंचायत में ठाकुर चौबीसी समेत, साठा-चौरासी और पुंडीर खाप समेत सभी गांवों से समाज के लोग शामिल हुए. पंचायत ने लड़के पक्ष को भी बुलाया और 5 दिन का समय दिया गया कि वह लड़की को वापस उसके घर भेज दें. पंचायत में शामिल लोगों का कहना है कि लड़के पक्ष ने अपनी गलती मानी है और 5 दिन का समय मांगा था.

गांव की लड़की गांव की नहीं बन सकती बहु
पंचायत में आए अन्य लोगों ने अपने विचार रखते हुए कहा कि हमारा सिर शर्म से झुका. एक गोत्र में शादी नहीं हो सकती. सरधना के एक गांव में लड़का लडकी ने कानून विवाह किया है. पंचायत ने निर्णय लिया है कि गांव की लड़की गांव की बहु नहीं बन सकती. ऐलान किया गया कि पांच दिन में लड़के वालों ने लड़की को लाकर देने का वादा किया है. लड़की के पिता का कहना है कि वो समाज के साथ हैं. पंचायत ने कहा कि कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करेंगे.