संवाददाता: सुनील बेंद्रे

उत्तर प्रदेश:  मेरठ जिले के हस्तिनापुर क्षेत्र में भीमकुंड गंगा घाट पर मंगलवार सुबह करीब दो दर्जन यात्रियों से भरी एक नाव गंगा में डूब गई। आनन-फानन में कुछ लोगों को बचा लिया गया, लेकिन कई लोग अभी लापता है। नाव के गंगा में डूबते ही हाहाकार मच गया। बताया जा रहा है कि दो लोगो की डूबने से मौत हो गई जिसमे एक शिक्षक का शव निकाला गया। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं है। 

मौके पर जमा भीड़

गंगा हादसे की खबर से अधिकारियों में हड़कंप मचा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों को राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही जिलाधिकारी, पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी और NDRF की टीम को मौके पर जाकर राहत कार्य को युद्धस्तर पर कराने के निर्देश दिए हैं।

घटना की जानकारी लेते मेरठ डीएम दीपक मीणा

बताया जा रहा है की हस्तिनापुर क्षेत्र के भीमकुंड गंगा घाट पर पुल की एप्रोच रोड टूटने से गंगा में अवैध नाव संचालन किया जा रहा है। मंगलवार सुबह लगभग दो दर्जन लोगों और कुछ मोटरसाइकिल से भरी नाव बीच गंगा की धारा में पहुंची तो नाव का बैलेंस बिगड़ गया और नाव गंगा की धारा में समा गई। नाव डूबने पर कुछ स्थानीय लोगों ने दर्जनों लोगों को सुरक्षित बचा लिया लेकिन कई लोग गंगा में डूब गए।

हस्तिनापुर गंगा हादसा

सूचना पर थाना पुलिस मौके पर पहुंची है। पुलिस के अलावा आसपास के सैकड़ों लोग भी घटनास्थल पर पहुंचे हुए हैं। अभी स्थानीय पुलिस ही लोगों की मदद से गंगा में डूबे लोगों की तलाश कर रही है। गंगा में डूबे लोगों के परिजन गंगा के किनारे पर विलाप कर रहे हैं। वे अपने परिवार के लोगों को ढूंढने की लगातार मांग कर रहे हैं। हादसे पर मुख्यमंत्री योगी ने संज्ञान लेते हुए उच्च अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्य करने के निर्देश दिए हैं। घटना के बाद से क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।


Manoj Kumar