Connect with us

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र: नासिक में भीषण हादसे के बाद बस में आग लगने से 12 जिंदा जले, 38 घायल

Published

on

महाराष्ट्र के नासिक में शनिवार सुबह लगभग 4:30 बजे एक भीषण हादसा हो गया। बस और आयशर ट्रक के बीच भीषण टक्कर के बाद बस में आग लग गई। हादसे में बस में सवार 12 लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई जबकि 38 यात्री जख्मी हुए हैं। पीएम मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा है कि हादसे में घायल हुए लोगो के इलाज का खर्च प्रदेश सरकार उठाएगी।

जानकारी के मुताबिक चिंतामणि ट्रैवल की स्लीपर सीट वाली प्राइवेट बस यवतमाल से मुंबई (Mumbai) जा रही थी। शनिवार सुबह 4:30 बजे नासिक-औरंगाबाद रूट पर नंदूरनाका के पास एक कैंटर और बस के बीच जोरदार टक्कर हो गई। दुर्घटना के वक्त बस में लगभग 50 सवारियां थीं और लगभग सभी सो रहे थे। माना जा रहा है कि ट्रक के डीजल से बस में आग लगी गई। हालांकि, दुर्घटना कैसे हुई है इसको लेकर कोई आधिकारिक बयान नही आया है। मरने वालों में बस का ड्राइवर और कुछ बच्चे भी शामिल हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए की सहायता राशि देने का ऐलान करते हुए घायलों का समुचित उपचार सरकार वहन करेगी। शिंदे ने कहा- 3 लोगों को प्राइवेट अस्पताल में एडमिट कराया गया है। हादसे को गंभीरता से लिया जाएगा और इसकी जांच कराई जाएगी। लोगों के जिंदा जलने से कई लोगों की पहचान नहीं हो पा रही है। हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है।

महाराष्ट्र

शिवसेना के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम मनोहर जोशी का 86 वर्ष की आयु में निधन

Published

on

पूर्व सीएम मनोहर जोशी

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और शिवसेना के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी का मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया। 21 फरवरी को उन्हें हार्ट अटैक आने के बाद उनको हिंदुजा अस्पताल भर्ती कराया गया था। तभी से आईसीयू में डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य पर लगातार नजर बनाए हुए थी। शुक्रवार तड़के 3.02 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

शुरुआती जीवन में जोशी आरएसएस से जुड़े थे। 1966 में शिवसेना की स्थापना के बाद वो उससे जुड़ गए। जोशी शिवसेना के संस्थापक बाल साहेब ठाकरे के निकटस्थ थे। उन्होंने टीचर से लोकसभा स्पीकर बनने तक का सफर तय किया।

मनोहर जोशी का शव दोपहर 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक रूपारेल कॉलेज, माटुंगा पश्चिम में उनके वर्तमान निवास पर अंतिम दर्शन करने रखा जाएगा। दोपहर 2 बजे उनकी शवयात्रा यात्रा शुरू होगी। जिसके पश्चात दादर श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।






Continue Reading

देश

महाराष्ट्र में कांग्रेस को एक और बड़ा झटका, पूर्व मंत्री बाबा सिद्दीकी ने छोड़ी पार्टी

Published

on

मुंबई: लोकसभा चुनाव से पहले महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी को झटके पर झटके लग रहे हैं. कई बड़े नेता पार्टी छोड़ रहे हैं. हाल ही में पूर्व केंद्रीय मंत्री मिलिंद देवड़ा ने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. अब इसके बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे बाबा सिद्दीकी ने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी है.

48 साल का सफर खत्म हो गया

पार्टी छोड़ने की घोषणा करते हुए, बाबा सिद्दीकी ने ट्विटर पर लिखा, “मैं एक युवा किशोर के रूप में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ और यह 48 वर्षों की एक महत्वपूर्ण यात्रा रही है। आज मैं एक प्राथमिक सदस्य के रूप में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ।” मैं इस्तीफा देता हूं. उन्होंने कहा कि मैं बहुत कुछ कहना चाहता हूं लेकिन न कहना ही बेहतर है.

इससे पहले 14 जनवरी को मिलिंद देवड़ा कांग्रेस छोड़कर शिवसेना में शामिल हो गए थे. इसके बाद से ही कयास लगाए जाने लगे कि जल्द ही बाबा सिद्दीकी भी पार्टी छोड़ने का फैसला ले सकते हैं. हालांकि उस वक्त उन्होंने इसे सिर्फ अटकलें बताया था. लेकिन आज उन्होंने खुद ही पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया.

अजित पवार की पार्टी NCP में शामिल हो सकते हैं

अब कांग्रेस छोड़ने के बाद माना जा रहा है कि वह अजित पवार की पार्टी एनसीपी में शामिल होंगे। हाल ही में बाबा सिद्दीकी के बेटे जीशान ने भी अजित पवार से मुलाकात की थी. आपको बता दें कि बाबा सिद्दीकी बांद्रा विधानसभा सीट से तीन बार विधायक रह चुके हैं और महाराष्ट्र के बड़े मुस्लिम चेहरों में से एक हैं।

Continue Reading

देश

NCP को लेकर शरद पवार से पहले सुप्रीम कोर्ट पहुंचे अजित पवार, दाखिल किया कैविएट

Published

on

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) पर कब्ज़ा करने के बाद अजित पवार अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. अजित गुट ने कैविएट दाखिल कर कोर्ट से अपील की है कि अगर शरद पवार गुट की ओर से चुनाव चिन्ह को लेकर अपील दायर की जाती है तो उनका पक्ष भी सुना जाए. आपको बता दें कि कैविएट अर्जी एक वादी द्वारा यह सुनिश्चित करने के लिए दायर की जाती है कि उसकी याचिका सुने बिना उसके खिलाफ कोई आदेश पारित न किया जाए।

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.