ललितपुर। कोतवाली क्षेत्र के गांव खेलार निवासी विवाहिता ने आत्महत्या कर ली थी. परिजनों की सूचना पर गांव में पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था. रविवार की रात चूहों ने शव को कुतर डाला. सोमवार की सुबह पोस्टमार्टम से पहले परिजनों ने शव से चादर हटाया तो उसमें खून लगा हुआ था. शव के चेहरे समेत अन्य हिस्सों पर गहरे घाव थे, मामला सामने आने पर परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया. मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है.

मृतका का फाइल फोटो और परिजन

दहेज के लिए परेशान करते थे ससुराली गांव पवा की रहने वाली अनुभा (22) की शादी लगभग चार साल पहले गाव खैलार निवासी हृदेश यादव के साथ हुई थी. विवाहिता के परिजनों की ओर से दी गई तहरीर के मुताबिक ससुराली अनुभा को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे. इससे परेशान होकर अनुभा ने शनिवार को जात्महत्या कर ली थी, जानकारी मिलने पर पुलिस गांव में पहुंची. इसके बाद शव को नेहरू नगर के आधुनिक पोस्टमार्टम गृह में रखवा दिया. यहां कर्मी ने शव को डीप फ्रीजर में न रखकर जमीन पर रख दिया, अगले दिन रविवार को अवकाश होने के कारण पोस्टमार्टम नहीं हो पाया. रात में ही शव के चेहरे समेत अन्य हिस्सों को चूहों ने कुतर दिया.

शव से चादर हटाते ही हैरान रह गए परिजन सोमवार को शव का पीएम होना था. इससे पहले परिजनों ने शव के ऊपर से चादर हटाया तो हैरान रह गए. चादर पर खून के निशान थे. इसके बाद लाश की बेकदरी होने का आरोप लहाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया. मामले की गंभीरता को देख मुख्य चिकित्साधिकारी ने पूरे नामले की जाच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है.

कमेटी में डॉ. वीरेंद्र सिंह, आरएन सोनी और अवनीश अग्निहोत्री शामिल हैं. कमेटी को जांचकर जल्द रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं विवाहिता की आत्महत्या के मामले में कोतवाली पुलिस ने विवाहिता की मां राधा की तहरीर पर पति हृदेश यादव, सास श्रीबाई, जेठ शिवम, जिठानी शिवानी और नंदोई के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. चर्चा है कि पुलिस को अनुभा का मोबाइल मिला है. इसमें उसकी आत्महत्या का वीडियों है.

आँखों देखी