शिक्षक की हैवानियत

कर्नाटक के एक स्कूल एक चौथी क्लास में पढ़ने वाले छात्र की टीचर की पिटाई से मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक, टीचर ने 10 साल के छात्र की पहले बुरी तरह से पिटाई की, फिर उसे स्कूल के पहली मंजिल की बालकनी से धक्का दे दिया. गंभीर हालत में बच्चे को अस्पताल में दाखिल कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. पुलिस ने बच्चे के परिवार की शिकायत पर आरोपी टीचर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. फिलहाल आरोपी टीचर फरार है.

गडक जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शिवप्रकाश देवराजू ने मीडिया को बताया, ‘मामला राज्य के उत्तरी हिस्से में हगली गांव के आदर्श प्राथमिक विद्यालय का है. आरोप है कि स्कूल में कॉन्ट्रैक्ट टीचर मुथप्पा ने चौथी क्लास के छात्र भरत की फावड़े से पिटाई की. फिर उसे बालकनी से फेंक दिया.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी टीचर ने छात्र भरत की मां की भी पिटाई की थी, जो स्कूल में एक शिक्षिका भी हैं. फिलहाल उनका स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है. पुलिस के मुताबिक, पिटाई का कारण पारिवारिक विवाद हो सकता है. फिलहाल पुलिस आरोपी टीचर की तलाश में जुटी है.

इससे पहले दिल्ली में भी ऐसा मामला सामने आया था. दिल्ली नगर निगम के एक स्कूल में एक टीचर ने पांचवीं कक्षा की छात्रा पर कथित तौर पर कैंची से हमला किया और फिर उसे स्कूल भवन की पहली मंजिल से नीचे फेंका दिया, जिसके चलते उसके चेहरे की हड्डी टूट गई.

पुलिस के अनुसार, शिक्षिका ने छात्रों के साथ खुद को एक कक्षा के अंदर बंद कर लिया और छात्रा को पकड़ लेने तक “हिंसक” तरीके से उस पर पानी की बोतलें फेंकीं. इसके बाद उसने छात्रा के बाल काटे और उसे बालकनी से फेंक दिया. आरोपी शिक्षिका को शनिवार को 20 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

आँखों देखी