उत्तर प्रदेश: कानपुर गर्ल्स हॉस्टल एमएमएस कांड में पकड़े गए आरोपी सफाईकर्मी ऋषि के मोबाइल से पुलिस ने 10 वीडियो बरामद किए हैं, जो हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं के बताए जा रहे हैं। पुलिस इसकी तस्दीक में लगी है। छात्राओं का हॉस्टल से पलायन जारी है। एसीपी कल्याणपुर दिनेश कुमार शुक्ला ने हॉस्टल में पहुंचकर जांच पड़ताल की। जहां कुछ दरवाजे नीचे से टूटे मिले। दरवाजों के नीचे इतनी जगह थी कि हाथ डाला जा सकता था।

गुरुवार को घटना का पता चलते ही हॉस्टल की छात्राओं ने आरोप लगाया था कि मौके पर पहुंची 112 पुलिस ने सफाईकर्मी ऋषि का मोबाइल वापस कर दिया था, जिसके बाद उसने सारे अश्लील वीडियो व फोटो डिलीट कर दिए थे। हालांकि एसीपी दिनेश कुमार शुक्ला का कहना है कि छात्राओं का आरोप गलत है। ऋषि को मोबाइल उसका लॉक खोलने के लिए दिया था। हॉस्टल में इस समय 35 छात्राएं रह रहीं हैं जिनके बयान लिए जाएंगे।

आरोपी जिस छात्रा का वीडियो बना रहा था वह अमरोहा की रहने वाली है, उसने भी हॉस्टल छोड़ दिया है। जबसे छात्राओं को पता चला कि आरोपी के मोबाइल में कई वीडियो मिले हैं तबसे वे डरी हुईं हैं। हॉस्टल में रह रही छात्राओं का कहना है कि वीडियो कितने दिनों से बन रहा ये किसी को नहीं पता है। आरोपी आठ सालों से हॉस्टल में काम कर रहा था। न जाने कितनी छात्राओं का वीडियो बनाया होगा। वहीं कुछ छात्राओं ने कहा की वीडियो वायरल हुआ तो काफी बदनामी होगी। 

Manoj Kumar