Connect with us

Hi, what are you looking for?

रोचक जानकारी

Corona महामारी से भुखमरी के कागार पर पहुंची Sex workers‚ धंधा हुआ पूरा चौपट

सेक्स वर्कर्स [ Sex workers] का वर्तमान में धंधा चौपट हो गया है। इनके बच्चे भी खाने के मोहताज हो गए है।

खबर शेयर करें

New delhi: कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन [Lockdown] में लोगों की नौकरियां जाने लगी है। जो दूसरे राज्यों से लाए गरीब और मजदूर लोग है वे अब पलायन करने लगे है। साथ-साथ इन लोगों अलावा एक और वर्ग है जो की सबसे ज्यादा लॉकडाउन [ Lockdown] की मार सह रहा है। सेक्स वर्कर्स [ Sex workers] का वर्तमान में धंधा चौपट हो गया है। इनके बच्चे भी खाने के मोहताज हो गए है। दिल्ली में कोरोना संक्रमण [ Corona infection] के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से कई सेक्स वर्कर्स [ Sex workers] की आजीविका के साधन खत्म होने के कारण भुखमरी की कगार पर पहुंच गए है।

विज्ञापन

ये भी पढ़ें- कोरोना कहर! अब गुरुग्राम के अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से 4 मरीजों ने तोड़ा दम


एक सेक्स वर्कर्स का कहना है कि अब तो दो वक़्त का खाना भी वह नहीं जुटा पा रही हैं। भयावह बीमारी के डर से ग्राहक नहीं मिल रहे, जिसका असर हम पर पड़ रहा है। एक अन्य ने बताया कि उसने और उसके चार साल के बेटे ने कई दिनों से ठीक से खाना नहीं खाया। और अब काम भी नहीं है तो ऐसे में उनका पेट पालना मुश्किल हो रहा है। इनके साथ-साथ कई और सेक्स वर्कर्स की हालत भी ऐसी ही हैं। ये सभी यौनकर्मी जीबी रोड पर रहती हैं जहां करीब 100 वेश्यालय हैं, इनमें करीब 1500 यौनकर्मी रहती हैं.

ये भी पढ़ें- Remadecivir Injections की जगह लगाते थे पानी का इंजेक्शन‚ फर्जीवाड़ें का पर्दाफाश कर 8 आरोपी गिरफ्तार

ऑल इंडिया नेटवर्क ऑफ सेक्स वर्कर्स (एआईएनएसब्लयू) की अध्यक्ष कुसुम ने कहा कि दिल्ली की ज्यादातर सेक्स वर्कर्स अपने प्रदेश के लिए निकल चुकी हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में पंजीकृत यौनकर्मियों की संख्या कुल पांच हजार है और वापस लौटने वाली यौनकर्मियों की संख्या कई ज्यादा है। एक 26 वर्षीय युवती ने कहा कि मैं उप्र के अपने घर से 18 साल की उम्र में भाग गई थी। मैं अभिनेत्री बनना चाहती थी लेकिन आजीविका के लिए इस धंधे में आ गई। जब से लॉकडाउन लगा है, कोई ग्राहक नहीं है और सारी जमापूंजी खत्म होती जा रही है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: