Connect with us

Hi, what are you looking for?

रोचक जानकारी

जन्मदिन विशेष: इस भारतीय तेज गेंदबाज ने डेब्यू और आखरी मैच में लिए थे 5-5 विकेट,

मोहम्मद निसार का जन्म 1अगस्त 1910 को पंजाब के होशियारपुर में जन्म हुआ था।  उन्होंने 22 साल की उम्र में टेस्ट मैच में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर डेब्यू किया था। अपनी रफ्तार से उन्होंने उस समय के दिग्गज बल्लेबाजों की नींद हराम कर दी थी।  1947 में देश के बंटवारे के बाद वो पाकिस्तान चले और पीसीबी (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) के संस्थापक सदस्य रहे। वो भारत के लिए सिर्फ 6 टेस्ट ही खेल पाए।

खबर शेयर करें

मनोज कुमार

क्रिकेटर मोहम्मद निसार

भारत ने 1932 में टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। इस मुकाबले में भारत की तरफ से जिसने पहली गेंद फेंकी थी उस गेंदबाज का नाम था मोहम्मद निसार। यह उनका डेब्यू मैच भी था। इस मैच में उन्होंने भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहली गेंद डाली और पारी में 93 रन देकर पांच विकेट झटकने वाले गेंदबाज का आज उनका जन्मदिन है।

डेब्यू मैच की कहानी

भारत ने 1932 में अपना पहला टेस्ट इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में खेला उस मैच में इंग्लैंड के कप्तान डगलस जार्डिन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। 25 हजार से ज्यादा दर्शक स्टेडियम में उस मैच को देखने आए। इंग्लैंड की तरफ से हर्बर्ट सटक्लिफ और पर्सी होम्स पारी की शुरुआत की। इस सलामी जोड़ी ने 10 दिन पहले ही यार्कशर की तरफ से खेलते हुए पहले विकेट के लिए 555 रन जोड़े थे।

इंडिया की तरफ से निसार ने पहली गेंद फेंकी थी। निसार ने सटक्लिफ को 3 रन और होम्स को 6 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। निसार ने 93 रन देकर पांच विकेट लिए जिस कारण इंग्लिश टीम पहली पारी में 259 रन पर ऑल आउट हो गई। हालांकि, इंग्लिश टीम ने भारतीय टीम को केवल 3 दिन मे ही 158 रन से हरा दिया। लेकिन इस डेब्यू मैच से निसार रातों-रात स्टार बन गए।

शानदार आगाज, लेकिन खेल पाये केवल 6 ही टेस्ट मैच

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार आगाज के बाद भी निसार देश के लिए सिर्फ 6 ही टेस्ट खेल पाए। 1933-34 में मुम्बई में खेले गए इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में निसार ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए फिर पांच विकेट झटके। एक अन्य मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ बनारस में खेलते हुए 117 रन देकर 9 विकेट चटकाए। भारत ने 1936 में इंग्लैंड का दौरा किया। निसार ने उस सीरीज के तीसरे टेस्ट में 5 विकेट लिए। लेकिन उन्हें रेलवे ने वापस भारत बुला लिया था। निसार उस समय भारतीय रेल में काम करते थे।

फर्स्ट क्लास रिकॉर्ड भी रहा शानदार

दूसरे विश्व युद्ध के कारण टेस्ट क्रिकेट पर 10 साल के लिए रोक लग गई। 26 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेला। उन्होंने डेब्यू और आखिरी दोनों टेस्ट में पांच विकेट लेने का खास रिकॉर्ड भी दर्ज है।उन्होंने 6 टेस्ट में 26 विकेट हासिल किए। उन्होंने 93 फर्स्ट क्लास मैच खेले जिसमे  उन्होंने  32 बार पांच विकेट लेते हुए 396 विकेट लिए थे।

देश विभाजन के बाद चले गए थे पाकिस्ता

1947 में देश के बंटवारे के बाद निसार पाकिस्तान चले गए। दोबारा कभी अपने जन्मस्थान होशियारपुर नहीं आये। निसार पाकिस्तानी रेलवे में लंबे समय तक अधिकारी रहे। निसार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के संस्थापकों में से एक रहे। उनके बारे में मशहूर था कि वह अपने किट बैग को हमेशा अपने साथ रखते थे और जहां ट्रेन के ज्यादा समय रुकने पर लोकल टीम के साथ क्रिकेट  खेलने के लिए उतर जाते थे। 1963 में ट्रेन में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। मौत के समय भी क्रिकेट किट उनके पास ही थी।

उनकी याद में भारत-पाक ने शुरू की मोहम्मद निसार ट्रॉफी

क्रिकेट में निसार के कद को देखते हुए भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट बोर्ड ने 2006 में मोहम्मद निसार ट्रॉफी शुरू की। इस टूर्नामेंट में दोनों देशों की घरेलू क्रिकेट की चैम्पियन टीमें एक-दूसरे का मुकाबला करती थीं। उत्तर प्रदेश और मुंबई ने पहले दो साल व सियालकोट टीम ने एक बार इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था। टीम के कप्तान विराट कोहली उस समय एक मैच में “मैन ऑफ द मैच” भी चुने गए थे। हालांकि दोनों देशों के बीच रिश्तो में कड़वाहट आने के कारण यह सीरीज बंद हो गयी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: