आरोपी

झुंझुनूं जिले के सिंघाना थाना इलाके के एक गांव की 19 साल की विवाहिता ने जालोर जिले के सरवाना थाना के SHO और अपने चचेरे भाई पर रेप का आरोप लगाया है। झुंझुनूं एसपी मृदुल कच्छावा के निर्देश पर जीरो FIR दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। जीरो FIR दर्ज कर सरवाना थाने भेजी गई है।

पीड़िता ने जालोर जिले के सरवाना थाना के SHO किसना राम और अपने ताऊ के बेटे पर रेप के आरोप लगाते हुए कहा कि जालोर में चचेरा भाई तीन साल से रेप कर रहा था। दो-तीन बार रेप कर चुका था। इसकी शिकायत की तो घरवालों ने भाई का ही पक्ष लिया। मुझे जान से मारने की धमकी देने लगे। मैं जालोर के सरवाना थाना शिकायत लेकर पहुंची। वहां SHO किसना राम मिला। उसने पूरी बात सुनकर शाम को आने को कहा।

पीड़िता ने बताया कि SHO किसना राम के पास थाने पर शाम को गई तो वहां आरोपी चचेरा भाई पहले से मौजूद था। उसने मुझे धमकाया। कहा- तू मेरी रिपोर्ट दर्ज कराने आई है? इस पर SHO किसना राम ने कहा कि यह आपके खिलाफ रिपोर्ट लिखाने आई थी, इसलिए आपको बुलाया है। इसके बाद SHO किसना राम और चचेरे भाई ने थाने से बाहर ले जाकर रेप किया।

पीड़िता ने कहा कि वह 1 सितंबर 2022 को अपने घर से बिता बताए भाग गई। घर से भागकर वह झुंझुनूं निवासी अपने दोस्त के पास आ गई। 19 सितंबर को पीड़िता ने दोस्त से आर्य समाज में शादी कर ली। इसके बाद ससुराल वालों पर झूठा केस कर फंसाया गया। पीड़िता ने कहा कि मेरी मां चचेरे भाई के दबाव में आ गई। उसने मेरे ससुर के खिलाफ रेप का झूठा मामला दर्ज करा दिया। पुलिस ने ससुर को 7-8 दिन से जेल में बैठा रखा है। मेरे ससुराल वालों को फोन कर धमकी दी जा रही है कि लड़की को वापस हमें सौंप दो, वरना ससुर से हाथ धो बैठोगी।

SHO बोला- रेप का केस दर्ज होने की जानकारी नहीं
इस मामले में आरोपी SHO किसना राम ने कहा कि मुझे मेरे खिलाफ रेप का मामला दर्ज होने की जानकारी नहीं है। किसना राम ने इस मामले पर बात करने से इंकार कर दिया। झुंझुनूं एसपी मृदुल कच्छावा ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है। जीरो एफआइआर दर्ज कर थाना सरवाना जांच के लिए भेज दिया गया है।

पीड़िता ने बताया कि उसने दोस्त से अपनी मर्जी से शादी की है। उसने आरोप लगाया कि शादी से पहले जब वह नाबालिग थी तब जालोर के भीमगुड़ा थाना इलाका निवासी ताऊ के बेटे ने 3 साल तक रेप किया था। एसएचओ और चचेरे भाई ने राज्य के एक मंत्री का आदमी होने की धमकी भी दी।

पीड़िता ने बताया कि 1 सितंबर को घर से भागने के बाद दोस्त को फोन किया। उसके घर झुंझुनूं के सिंघाना थाना इलाके में रहने लगी। 19 सितंबर को उसी से शादी कर ली। पीड़िता ने बताया कि सास जालोर में एएनएम थी। 22 साल से वह गांव में ही कार्यरत थी। उसका बेटा मेरा दोस्त बन गया। उसके साथ भागकर शादी की तो इससे खफा मेरी मां ने मेरे ससुर के खिलाफ झूठा मामला दर्ज करा दिया। सरवाना पुलिस ससुर को उठा ले गई।

पीड़िता ने आरोप लगाया कि मां चचेरे भाई के साथ मिलकर अवैध शराब का काम करती है। दोनों की राजनीति में भी अच्छी पकड़ है। उनके दबाव में आपर जालोर पुलिस ससुर को झूठा फंसा रही है।घटनाक्रम के बाद कई ऑडियों भी सामने आए हैं, इसमें सरवाना थाना पुलिस के की ओर से पीड़िता के ससुराल वालों पर उसे पेश करने के दबाव की बात कही जा रही है। पीड़िता के ससुर को जेल भेजने की बात भी कह रहे हैं।

आँखों देखी