दिल्ली में दरिंदगी की दास्तान! सड़क पर रगड़ लगने से आधा शरीर हो चुका था पूरी तरह से खत्म

इसी कार दिया गया घटना को अंजाम

New delhi:  दिल्ली में नए साल पर सुल्तानपुरी से लेकर कंझावला तक कार से 13 किलोमीटर तक युवती के घसीटे जाने के मामले में पूरे देश में गम और गुस्सा है। हर कोई आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहा है। इस बीच मृतक युवती की मां का बयान सामने आया है। घटना के बाद से मां का बुरा हाल है। वह रह-रहकर बेहोश हो रही है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आखिरी बार रात 9.00 बजे बेटी से बात हुई थी।

मां ने कहा कि मैंने उससे रात 9.00 बजे बात की थी तब उसने कहा था कि वह सुबह करीब तीन-चार बजे तक घर आ जाएगी। पीड़ित मां का कहना है कि उनकी बेटी शादियों में इवेंट प्लानर का काम करती थी। वह परिवार की अकेली कमाने वाली सदस्य थी।

यह भी पढ़ें- MP: बीमार हिन्दू बच्चे के लिए फरिश्ता बना अनजान मुस्लिम युवक‚ खून देकर बचाई जान

पीड़िता का कहना है कि उसे रविवार सुबह पुलिस ने फोन कर दुर्घटना के बारे में बताया। मुझे पुलिस स्टेशन ले जाया गया और इंतजार करने को कहा गया। जब मेरा भाई पुलिस स्टेशन पहुंचा तो उसे मेरी बेटी की मौत के बारे में बताया गया। तब यह बात मेरे भाई ने मुझे बताई।

रो-रोकर पूरा वाकया बताने वाली पीड़िता ने कहा कि मेरी बेटी ही परिवार में अकेली कमाने वाली थी। जब वह घर से निकली तो उसने कई कपड़े पहन रखे थे, लेकिन उसके शव पर कपड़े का एक टुकड़ा भी नहीं मिला। पीड़िता ने सवाल किया कि आखिर यह कैसी दुर्घटना थी जिसमें मेरी बच्ची का ये हाल हो गया।

यह है पूरा मामला
सुल्तानपुरी में शनिवार रात युवती को 13 किलोमीटर तक घसीटने के मामले में इंसानियत भी शर्मसार हो गई। शराब के नशे में धुत आरोपी युवक कार से युवती को घसीटते हुए सुल्तानपुरी से जोंटी गांव, कंझावला तक ले गए। अगले बंपर और पहियों के बीच युवती फंस गई थी। कार में फंसा हुआ शव जब सड़क पर गिरा तो युवक फरार हो गए। रविवार तड़के 4:11 बजे राहगीरों ने सड़क पर युवती का शव देखकर पुलिस को खबर दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जब युवती का शव देखा तो दिल दहल गया। शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था। पिछला हिस्सा सड़क की रगड़ लगने से जलकर गायब हो चुका था। शरीर में खून की एक भी बूंद नहीं बची थी। मामले की जांच कर रहे पुलिसकर्मियों ने बताया कि उन्होंने जीवन में इतना भयानक हादसा कभी नहीं देखा। आरोपी नए साल की पार्टी करने के लिए मुरथल गए थे। आरोपी वापस ग्रे कलर की कार से मंगोलपुरी लौट रहे थे।

यह भी पढ़ें- बेवफा प्रेमिका की हत्या करने के लिए फ्लाइट से आया युवक‚ पेचकस से किया 51 बार हमला‚ गिरफ्तार

सुल्तानपुरी में स्कूटी सवार बीस साल की युवती कार की चपेट में आ गई। इसके बाद आरोपी कार से युवती को करीब 10 किलोमीटर तक घसीटकर ले गए। करीब 3:24 बजे सुल्तानपुरी थाना पुलिस को कार में बांधकर युवती को घसीटने की खबर मिली थी। गश्त पर मौजूद एसएचओ मौके पर पहुंचे तो युवती की स्कूटी सुल्तानपुरी में मिल गई। अभी जांच चल ही रही थी कि 4:11 बजे रोहिणी के कंझावला में युवती को कार से घसीटने की कॉल मिली। बाहरी जिला पुलिस भी जोंटी गांव पहुंच गई। यहा युवती का शव बरामद हो गया।

शरीर की शायद ही कोई ऐसी हड्डी बची हो जो न टूटी हो। एक पैर भी गायब था। दूसरा पैर पूरी तरह टूटकर घूम चुका था। पीठ में रगड़ लगने से शरीर में गड्ढा हो गया था। पीछे की ओर से शरीर के अंदरूनी अंग भी गायब थे। माना जा रहा है कि युवती के शव और उसके कपड़ों के हिस्से सुल्तानपुरी से जोंटी गांव तक फैल गए। पुलिस की एक टीम रविवार को सुल्तानपुरी से घटनास्थल तक जांच के लिए पहुंची। पुलिस ने इस दूरी के दौरान मौके से अवशेष जुटाए। आरोपियों की कार का मैकेनिकल निरीक्षण करवाने की तैयारी की जा रही है।