NDTV Share: Adani Group प्रणय व राध‍िका रॉय को हर शेयर के दे सकता है 460 रुपए, आम शेयरधारकों को द‍िए थे 294 रुपए

अडानी ग्रुप (Adani Group), एनडीटीवी (NDTV) के संस्थापकों प्रणय रॉय (Prannoy Roy) और राधिका रॉय (Radhika Roy) को उनके एक-मुश्त शेयर के बदले मोटा पैसा दे रहा है। रॉय दंपती ने अडानी समूह से अपने 27.26 प्रतिशत शेयर के लिए जो डील की है, उसके तहत उन्हें ओपन ऑफर के मुकाबले कुल करीब 56 प्रतिशत ज्यादा पैसा मिल सकता है। आपको बता दें कि अडानी ग्रुप, एनडीटीवी में शेयर खरीदने के लिए मार्केट में ओपन ऑफर लाया था। ओपन ऑफर के दौरान अडानी ग्रुप ने, आम शेयर होल्डर्स को महज 294 रुपये प्रति शेयर भुगतान किया था।

क्या कहते हैं सेबी के नियम?

अडानी ग्रुप का ओपन ऑफर 22 नवंबर से 5 दिसंबर तक चला। ओपन ऑफर खत्म होने के महज 18 दिनों के अंदर प्रणय रॉय और राधिका रॉय की अडानी समूह से डील हो गई। The Telegraph की एक रिपोर्ट के अनुसार सेबी (SEBI) के नियमों के मुताबिक अब प्रणय रॉय और राधिका रॉय को उनके शेयर के लिए एनडीटीवी (NDTV) के शेयर के पिछले 60 दिनों के औसत मूल्य का अधिकतम 25% ज्यादा पैसा मिल सकता है। बता दें कि पिछले 60 दिनों के दौरान एनडीटीवी के शेयर का औसत मूल्य 368.43 रुपये रहा है।

प्रणय रॉय-राधिका रॉय को कितना पैसा मिल सकता है?

अगर अधिकतम 25% के हिसाब से देखें तो प्रति शेयर का मूल्य 460.54 बैठता है इस हिसाब से अडानी ग्रुप (Radhika Roy) से प्रणय रॉय और राधिका रॉय (Prannoy Roy-Radhika Roy) को 810 करोड़ रुपए के आसपास मिल सकते हैं। आपको बता दें कि प्रणय रॉय और राधिका रॉय की एनडीटीवी में कुल 32. 26 प्रतिशत हिस्सेदारी थी और उनके पास 1.75 करोड़ शेयर थे। रॉय दंपती ने अडानी ग्रुप को 27.26% हिस्सेदारी बेचने का ऐलान किया है। अब अपने पास महज 5 फीसदी रखेंगे। गौरतलब है कि अडानी समूह ने रॉय दंपती को उनके शेयर के बदले वास्तव में कितने पैसे दिये, इसकी जानकारी इस सप्ताह के आखिर तक सार्वजनिक हो जाएगी।

NDTV में अब अडानी की कितनी हिस्सेदारी?

प्रणय रॉय और राधिका रॉय के 27.26% शेयर खरीदने के बाद अब अडानी ग्रुप, एनडीटीवी (NDTV) का सबसे शेयर होल्डर हो गया है। अडानी ग्रुप की अब एनडीटीवी में 65 प्रतिशत हिस्सेदारी हो गई है, और एक तरीके से कंट्रोलिंग पोजीशन में आ गया है। बता दें कि अडानी ग्रुप ने जब अगस्त में एनडीटीवी के अधिग्रहण का ऐलान किया था, तब रॉय दंपति ने इसे जबरिया अधिग्रहण करार दिया था।

अडानी से डील के बाद बदल गई रॉय दंपती की राय

हालांकि अडानी ग्रुप से डील के बाद अब प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने इसे बहुत सकारात्मक करार दिया है और कहा है कि गौतम अडानी से उनकी अच्छी बातचीत रही। उनके ज्यादातर सुझाव भी मान लिये, इसलिये अपने अधिकांश शेयर अडानी ग्रुप को बेच रहे हैं। आपको बता दें कि प्रणय रॉय-राधिका रॉय ने साल 1988 में एनडीटीवी की नींव रखी थी।