Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

NCB ने आज भी नही मिलने दी आर्यन खान को जमानत‚ अब 20 अक्टूबर को होगी सुनवाई

जमानत दिलाने के लिए वकील अपनी ओर से भरपूर कोशिश की थी। लेकिन NCB ने इसका कड़ा विरोध किया। मामले में NCB ने आर्यन खान के खिलाफ कई और सबूत कोर्ट के सामने पेश किए। इस मामले में 20 अक्टूबर को फैसला सुनाया जाएगा।

खबर शेयर करें
आर्यन खान- फोटो साभार: सोशल मीडिया

Aryan khan case latest update in hindi: ड्रग्स मामले में जेल में बंद अभिनेता शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान और अन्य आरोपियों को आज भी जमानत नही मिल पाई है। जमानत दिलाने के लिए वकील अपनी ओर से भरपूर कोशिश की थी। लेकिन NCB ने इसका कड़ा विरोध किया। मामले में NCB ने आर्यन खान के खिलाफ कई और सबूत कोर्ट के सामने पेश किए। इस मामले में 20 अक्टूबर को फैसला सुनाया जाएगा।

इससे पहले NCB ने अपनी और से दलील दी कि आर्यन खान जब 20 का था तब से वह प्रतिबंधित ड्रग्स का सेवन कर रहा है। एनसीबी ने कोर्ट को बताया है कि आर्यन भारत ही नही कई दूसरे देशों में भी नशा कर चुका है। इससे संबंधित सबूत अपने पास होने का दावा एनसीबी ने किया है। वहीं दूसरी तरफ बहुत से लोग शाहरुख और आर्यन के सपोर्ट में अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं।

आर्यन के वकील ने दिया शौविक और रिया चक्रवर्ती केस हवाला

आर्यन खान और अन्य आरोपियों के वकीलों ने कोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत मामले में शोविक चक्रवर्ती केस का हवाला देते हुए जमानत देने की मांग की है। वहीं एनसीबी के वकील अनिल सिंह ने अदालत में दलील दी कि माया नगरी में ड्रग्स के तार फैले हुए हैं। NCB इसकी जांच में जुटी हुई है। ऐसें में आरोपियों को जमानत देना उचित नहीं होगा। (it would not be appropriate to grant bail to any accused in the drug case argued ncb lawyer anil singh in court today)

NCB के वकील ने दी जोरदार दलील

अदालत में बहस करते हुए एनसीबी के वकील अनिल सिंह ने कहा कि प्रथम दृष्टया सबूत बताते हैं कि आर्यन खान पहली बार नशा करने वाला नहीं बल्कि नियमित रूप से नशा करने वाला है। छापेमारी के दौरान आरोपियों ने अरबाज मर्चेंट के पास से हशीश जब्त की और यह उन दोनों के लिए था, यह अरबाज के जवाब से साफ है।

यह भी पढ़ें- PNG-CNG Price Hike: पेट्रोल-डीजल के बाद 2 रूपए फिर बढ़ाए PNG और CNG गैस के दाम, जानिए नई दरें

एनसीबी के जांच अधिकारी ने कहा कि उसने पंचनामे के जरिए हशीश को जब्त किया था और अरबाज ने कहा था कि हशीश उन दोनों के लिए था। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि आर्यन खान ड्रग्स ले रहा था। दोनों ने पंचनामा भी साइन कर लिया है। इसलिए, यह स्पष्ट है कि आरोपी पूरी होश और हवास में ड्रग्स ले रहे थे।

सिंह ने कहा, “जब किसी के पास मादक पदार्थ पाए जाते हैं, तो जांच एजेंसी द्वारा लगाए गए आरोपों को जांच के स्तर पर और मुकदमा खत्म होने तक सच माना जाना चाहिए।”

रोपियों के वकील की दलील को किया खारिज

अरबाज मर्चेंट के लिए बहस करते हुए, वकील तारक सैयद ने दावा किया कि पंचनामे में आर्यन और अरबाज के मोबाइल फोन का जिक्र नहीं था। उन्होंने अपनी जमानत अर्जी में इस मुद्दे को नहीं उठाया। इसलिए हमने हलफनामे में इसका जवाब नहीं दिया। दोनों आरोपियों ने मोबाइल खुद एनसीबी को सौंपा और एनसीबी के दस्तावेजों में इसका जिक्र है।

यह भी पढ़ें- सब्जियों पर दिखने लगा पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों का असर‚ 72 रूपए प्रति किलाे हुआ टमाटर

वहीं सैयद के तर्क को खारिज करते हुए NCB के वकील सिंह ने कहा कि अरबाज के इस तर्क का कि व्हाट्सएप पर बातचीत कहां से हुई, अगर मोबाइल फोन जब्त नहीं किया गया तो इसका कोई मतलब नहीं है।

आर्यन ने तर्क दिया कि करी कट क्लॉज, जिसे साजिश का हिस्सा कहा जाता है, को मामले में शामिल नहीं किया गया था। लेकिन सिंह ने कहा कि इससे उन्हें कोई मतलब नहीं था। क्योंकि अभी जांच चल रही है और जांच एजेंसी आरोपी पर कभी भी धारा 29 लगा सकती है. अनिल सिंह ने कहा कि इसके अलावा, धारा 29 तब लागू की जाती है जब आरोपी के समूह में किसी के पास व्यावसायिक मात्रा में नशीला पदार्थ पाया जाता है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: