MP: बीमार हिन्दू बच्चे के लिए फरिश्ता बना अनजान मुस्लिम युवक‚ खून देकर बचाई जान

छतरपुर (मप्र): मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक मुस्लिम व्यक्ति ने खून की कमी (एनीमिया) से पीड़ित 60 दिन के एक हिंदू बच्चे की जान बचाने के लिए निस्वार्थ भाव से रक्तदान किया. शनिवार को जब 36 वर्षीय रफत खान को बच्चे की गंभीर स्थिति के बारे में फोन आया, तो वह एक सेकंड के लिए भी नहीं हिचकिचाए और अपनी मोटरसाइकिल से तुरंत जिला अस्पताल पहुंच गए.

खान नमाज अदा करने के लिए अपने घर से निकलने ही वाले थे कि उन्हें फोन आया कि विकास गुप्ता एनीमिया से पीड़ित है और उसे ‘ए पॉजिटिव’ रक्त की सख्त जरूरत है. खान ने रविवार को पीटीआई-भाषा से कहा, ‘बिना कुछ सोचे-समझे मैंने अपनी मोटरसाइकिल उठाई और बीमार बच्चे को रक्तदान करने के लिए जिला अस्पताल पहुंच गया.’

खान ने कहा कि बच्चे के पिता एवं मनोरिया गांव के निवासी जितेंद्र ने खून नहीं मिलने पर मुझसे संपर्क किया और कहा कि एक दलाल ने खून की व्यवस्था करने के नाम पर उन्हें (जितेंद्र को) धोखा दिया है. उन्होंने बताया कि दलाल ने खून की व्यवस्था करने के नाम पर जितेंद्र से कथित तौर पर 750 रुपये ले लिए थे. जितेंद्र ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘खान के रक्तदान करने के बाद मेरे बेटे की हालत में अब सुधार है. वह एक फरिश्ते की तरह आए और मुस्कुराते हुए मेरे बच्चे को रक्त दान कर दिया. मेरे बच्चे को इसकी सख्त जरूरत थी.’

जिला अस्पताल में विशेष नवजात शिशु देखभाल इकाई के प्रभारी बाल रोग विशेषज्ञ डॉ मुकेश प्रजापति ने कहा कि खून मिलने के बाद बच्चे की हालत स्थिर है. खान एक साल की अवधि में कम से कम 13 बार रक्तदान कर चुके हैं। खान ने कहा, ‘इस नेक काम से मुझे खुशी और संतुष्टि मिली.’

आर्टिकल साभार- News-18