Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

महाराष्ट्र: बाढ़ के पानी में बह गई चलती हुई बस, ड्राइवर और कंडक्टर सहित 4 की मौत

इस घटना में ड्राइवर और कंडक्टर सहित चार लोगों की मौत की खबर है. दो लोगों का रेस्क्यू कर लिया गया है. बचाव कार्य शुरू है. MH 14 BT 5018 नंबर की बस नांदेड़ से नागपुर की तरफ जा रही थी.

खबर शेयर करें
महाराष्ट्र: साहस बना दुस्साहस, बाढ़ के पानी में बह गई बस, 4 की मौत, 2 को बचाया गया

बाढ़ में बही बस

महाराष्ट्र के यवतमाल में एक स्टेट ट्रांसपोर्ट की बस (ST Bus drowned in Yawatmal near Umarkhed) के चालक का साहस महंगा पड़ गया. उमरखेड के पास बाढ़ के पानी में एक बस बह गई, यह घटना दहागाव में हुई है. ड्राइवर नाले का सही अंदाज़़ नहीं लगा पाया. उसने ना सिर्फ अपनी जान जोखिम में डाली ,बल्कि बस में सवार लोगों की जान भी खतरे में डाल दी. इस घटना में ड्राइवर और कंडक्टर सहित चार लोगों  की मौत की खबर है. दोनों यात्री नागपुर के रहने वाले थे. दो लोगों का रेस्क्यू कर लिया गया है. बचाव कार्य शुरू है. MH 14 BT 5018 नंबर की बस नांदेड़ से नागपुर की तरफ जा रही थी.

यह घटना आज (28 सितंबर, मंगलवार) सुबह साढ़े आठ बजे की है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह बस कल सुबह नागपुर से निकली थी. रात के वक्त यह नांदेड़ पहुंची. आज सुबह सवा पांच बजे यह नांदेड़ से नागपुर के लिए निकली थी. रास्ते में उमरखेड में रूक कर वहां से साढ़े सात बजे निकली. टिकट मशीन के जीपीएस ट्रैकिंग से जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक बस में 8 यात्री सवार थे. दहागांव के पास जब बस पहुंची तो बाढ़ की वजह से नाले के ऊपर स्थित पुल पर भी पानी बह रहा था. ऐसे में ड्राइवर ने रिस्क लेकर बस आगे बढ़ाई. नाले और पुल के बीच का उसे अंतर समझ नहीं आया और बस नाले में समा गई.

ड्राइवर के पास था पिछले 24 साल का अनुभव 

ड्राइवर का नाम सतीश सूरेवार (53) और कंडक्टर का नाम भीमराव लक्ष्मण नागरीकर (56) था. ड्राइवर के पास पिछले 24 साल का अनुभव था. ड्राइवर के नाम आज तक एक भी एक्सीडेंट की घटना दर्ज नहीं है. मंजे हुए ड्राइवर होने की वजह से अति आत्म विश्वास की वजह से शायद वो बस नाले की तरफ ले गया और यह हादसा हो गया.

नाले के ऊपर पुल, पुल पर बाढ़ का पानी, ड्राइवर को नहीं लगा अंदाज़, बह गई बस

Bus Drowned 2 Min

रात भर ज़ोरदार बारिश से आई बाढ़, नाले के पुल के ऊपर से बह रहा था पानी

रात भर यहां ज़ोरदार बारिश हुई. इस वजह से नाले में पानी भर गया और पुल के ऊपर से बहने लगा. ड्राइवर ने जोखिम लेकर बस बढ़ाई लेकिन नाले के ऊपर से बहते हुए पानी में धार अधिक होने की वजह से बस बह गई. इस दुर्घटना की जानकारी मिलते ही वहां तहसीलदार आनंद देऊलगावककर, थानेदार अमोल मालवे और बचाव दल के अधिकारी और कर्मचारी पहुंच गए. अब तक एक व्यक्ति का शव मिला है. दो लोगों को बचाने में कामयाबी मिली है. तीन लोग लापता हैं. स्थानीय लोगों के मुताबिक उनके बह जाने की आशंका जताई जा रही है.

गांव-गांव, शहर-शहर, बारिश और बाढ़ का कहर

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक सोमवार शाम से ही मराठवाडा और विदर्भ क्षेत्र के इलाकों में मूसलाधार बरसात शुरू है. यहां नदी, नाले, तालाब पूरी तरह से भर गए हैं. कई गांवों में बाढ़ जैसे हालात हैं. बाढ़ का पानी गांव के अंदर आ गया है. लोग अपने-अपने घर की छत पर आ गए हैं. बीड़, परभणी, बुलढाणा, औरंगाबाद, अकोला, नांदेड़ जिलों में बरसात ने जम कर कहर बरपाया है.

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: