Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

LPG सिलेंडर बुकिंग की टेंशन हुई दूर, बदल गया ये नियम

वांछित वितरक का चयन करने के लिए वन ऐप के अलावा, आप इंडियन ऑयल की वेबसाइट http://cx.indianoil.in पर जा सकते हैं। इस लिंक पर क्लिक करने के बाद ग्राहक अपनी पसंद का रिफिल वितरक चुन सकते हैं।

खबर शेयर करें

नई दिल्ली: घरेलू एलपीजी सिलेंडर बुक करना [book lpg cylinder] और भी आसान हो गया है। ग्राहक अब अपना वांछित वितरक चुन सकते हैं। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने एलपीजी सिलेंडर की बुकिंग के लिए एक सुविधाजनक प्रणाली शुरू की है। यह व्यवस्था रीफिल पोर्टेबिलिटी के बारे में है। सिलेंडर बुकिंग के समय ग्राहक चाहें तो पोर्टेबिलिटी का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल ने एक मोबाइल एप (one app) बनाया है। इस ऐप का नाम ‘वन ऐप’ है।(This rule changed in related to your LPG cylinder; The tension of booking is gone)

वांछित वितरक का चयन करने के लिए वन ऐप के अलावा, आप इंडियन ऑयल की वेबसाइट http://cx.indianoil.in पर जा सकते हैं। इस लिंक पर क्लिक करने के बाद ग्राहक अपनी पसंद का रिफिल वितरक चुन सकते हैं। ग्राहक क्षेत्र में मौजूद वितरक की पूरी जानकारी इस ऐप या वेबसाइट पर उपलब्ध होगी। ग्राहकों को रिफिल बुक करते समय वितरक चुनने की आजादी होगी। बुकिंग के समय ग्राहक डिस्ट्रीब्यूटर को भी चुन सकता है जिससे उसकी एलपीजी सिलेंडर के लिए बुकिंग हो जाएगी।

कैसे बुक करें?
इसके लिए ग्राहक को मोबाइल एप या आईओसी के पोर्टल पर जाना होगा। लॉग इन करने के बाद, वितरण वितरकों की एक सूची दिखाई देती है। वितरक की प्रदर्शन रेटिंग भी प्रदर्शित की जाएगी, जिसके आधार पर उसे पता चलेगा कि उसकी सेवा कितनी अच्छी है। यह लोगों की प्रतिक्रिया के आधार पर तय किया जाता है। ग्राहक अपनी सुविधानुसार वितरक का चयन करेगा। जिस वितरक के नाम का चयन किया जाएगा वह एलपीजी सिलेंडर की डिलीवरी करेगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका एलपीजी कनेक्शन किस एजेंसी से है। पहले, सिलेंडर उसी एजेंसी या वितरक से खरीदना पड़ता था जिसके पास कनेक्शन होता है।

उमंग . से भी आप सिलेंडर बुक कर सकते हैं
उमंग एप से भी रीफिल बुकिंग की जा सकती है। यह एक सरकारी ऐप है जिसमें एक साथ कई सुविधाएं उपलब्ध हैं। आप भारत बिल पे सिस्टम ऐप से रीफिल बुकिंग के लिए भुगतान कर सकते हैं। रिफिल बुकिंग के लिए ग्राहक को और भी कई सुविधाएं मिल रही हैं, जैसे ई-कॉमर्स एप अमेजन और पेटीएम के जरिए भी भुगतान किया जा सकता है. ग्राहक अपने पंजीकृत लॉगिन से अपनी गैस कंपनी (OMC) वितरक चुन सकते हैं। यहां यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि भारतीय ग्राहक अपने क्षेत्र के भारतीय वितरकों से ही सिलेंडर मंगवा सकते हैं, हिंदुस्तान पेट्रोलियम के वितरकों से नहीं।

एलजीपी के साथ-साथ मोबाइल की पोर्टिंग
पोर्टेबिलिटी के मामले में सोर्स डिस्ट्रीब्यूटर (जिस एजेंसी से एलपीजी कनेक्शन लिया गया है) उसे अपने ग्राहक को समझा सकता है और उसे सिलेंडर स्वीकार करने के लिए तैयार कर सकता है। यह पूरी तरह से ग्राहक पर निर्भर करता है कि वह पोर्टेबिलिटी लेता है या अपनी पुरानी एजेंसी से सिलेंडर लेना पसंद करता है। इसके लिए सोर्स डिस्ट्रीब्यूटर ग्राहक पर किसी तरह का दबाव नहीं डाल सकता। जैसा कि मोबाइल पोर्ट में होता है, जब ग्राहक पोर्ट का अनुरोध करता है, तो स्रोत कंपनी एक संदेश भेजती है और पोर्ट को बंद करने का अनुरोध करती है।

स्रोत कंपनी ग्राहकों से बंदरगाह बंद करने का अनुरोध करती है। अब यह ग्राहक पर निर्भर है कि वह पोर्ट को कैंसिल करे या किसी दूसरी कंपनी में जाए। रिफिल बुकिंग में भी यही नियम लागू किया गया है। एलपीजी ग्राहक चाहें तो 3 दिनों के भीतर पोर्टेबिलिटी रद्द की जा सकती है। 3 दिन बाद एलपीजी कनेक्शन पोर्ट के साथ डिस्ट्रीब्यूटर के पास जाएगा।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: